UP से फरार बाहुबली विधायक विजय मिश्रा MP में गिरफ्तार, एक दिन पहले बताया था जान को खतरा

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट

उत्तरप्रदेश(Uttar Pradesh) से भागे अपराधी मध्यप्रदेश(Madhya Pradesh) की तरफ रुख करते हैं। ऐसे कई मामले पहले भी सामने आ चुके हैं। अब एक बार फिर भदोही के ज्ञानपुर से चर्चित विधायक विजय मिश्रा(MLA Vijay Mishra) के भदोही(Bhadohi) से भागकर एमपी(MP) की तरफ आने की खबर सामने आई है। जिसके बाद एमपी के आगर जिले के मालवा पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया है। जिसके बाद यूपी पुलिस टीम विधायक(MLA) को यूपी लाने के लिए रवाना हो चुकी है। कहा यह भी जा रहा है कि भदोही पुलिस की सूचना पर मध्य प्रदेश पुलिस(MP Police) ने यह गिरफ्तारी की है जिसकी पुष्टि पुलिस अधीक्षक राम बदन सिंह ने की है।

दरअसल विधायक को आगर जिले के मालवा से हिरासत में लिया गया है। मध्य प्रदेश पुलिस का कहना है कि उनके खिलाफ मध्यप्रदेश में कोई अपराध दर्ज नहीं है। इसलिए हमने ना तो उन्हें गिरफ्तार किया है ना ही हिरासत में लिया है।उत्तर प्रदेश पुलिस की सूचना पर सुबह 9:00 बजे के करीब उन्हें रोककर थाना लाया गया है जहां से विधायक को आगर लाया गया। विधायक मिश्रा को यूपी पुलिस(UP Police) को सौंप दिया जाएगा। वहीं इससे पहले विजय मिश्र ने हाल ही में एक वीडियो(video) जारी कर एनकाउंटर(encounter) होने की आशंका जताई थी।

मकान पर जबरदस्ती कब्जा

बाहुबली विधायक विजय मिश्रा गोपीगंज कोतवाली क्षेत्र के धनापुर से हैं। रिश्तेदार कृष्णमोहन का आरोप है कि धनापुर का मकान उसका है। विधायक मकान पर जबरदस्ती कब्जा किया हुआ है। जिसके बाद विधायक और उनके परिवार पर मुकदमा दर्ज किया गया।

बिना जांच पड़ताल के दर्ज हो रही FIR

विधायक के खिलाफ शिकायत करने वाले कृष्णमोहन ने अपनी जान का खतरा बताया था। जिसके बाद पुलिस ने कृष्णमोहन को सुरक्षा मुहैया करवाई थी। विधायक मिश्रा अपने खिलाफ लगे आरोपों को झूठा बताते हुए प्रशासन पर भी उनके खिलाफ षड्यंत्र रचने का आरोप लगाया। विधायक ने कहा बिना जांच पड़ताल के एफआईआर दर्ज हो रही है जो कि सरासर गलत है।

बता दें कि विधायक विजय मिश्र, उनकी पत्नी और एमएलसी(MLC) रामलली मिश्रा और उनके कारोबारी पुत्र विष्णु मिश्र पर कृष्ण मोहन तिवारी ने मुकदमा दर्ज कराया था। विधायक सहित उनके परिवार पर मारपीट कर संपत्ति हड़पने के आरोप है।जिसके बाद 8 अगस्त को पुलिस ने तीनों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया था और उन पर गुंडा एक्ट(Gunda Act) लगाया था। मुकदमा दर्ज होने के बाद से ही विधायक विजय मिश्र फरार हो गए थे। वहीं उन्होंने 1 दिन पूर्व भी वीडियो जारी कर कहा था कि ब्राह्मण होने के नाते उन्हें परेशान किया जा रहा है और पुलिस कभी भी उनका इनकाउंटर कर सकती है। वहीं उन्होंने यह भी कहा था कि चार बार से विधायक होने के कारण यह सब किया जा रहा है ताकि बनारस या चंदौली का कोई माफिया यहां आकर चुनाव लड़ सके और उन्हें चुनावी मैदान से बाहर रखा जाए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here