अनाज की कालाबाजारी जारी, राजनीतिक दबदबे की वजह से बच रहे आरोपी

मंदसौर।तरुण राठौर

नगर में सरकारी अनाज की जमकर काला बाजारी हो रही है। लेकिन प्रशासन है कि कालाबाजारियों के खिफाफ कोई सख्त कार्यवाही नहीं कर पा रहा है। इसी का फायदा लेते हुए व्यपारी जमकर सरकारी अनाज की हेराफेरी कर रहे है। ऐसा ही एक मामला बुधवार को शहर में देखने को मिला। जब यातायात विभाग ने एक लोडिंग वाहन में सरकारी चावल को पकड़ा। यह माल एक मंडी व्यपारी हिरेंद्र उर्फ हीरू सिंध का था। जो भाजपा का कार्यकर्ता है। ओर ये पहले भी सरकारी अनाज की हेराफेरी करते हुए पकड़ा गया था।

पर राजनीतिक वर्चस्व के चलते प्रशासनिक कारवाही से बच गया था। एक बार फिर से पकड़ाया है। जो अपने आप में एक बड़ा विषय है। क्योंकि जब प्रशासन की टीम ने इसके सभी गोदाम पर छापामार कारवाही की तो वहां से कुछ नहीं मिला। जबकि बताया जा रहा है कि ये माल कालाखेत के गोदाम से लोड किया गया था। और इससे बेचने के लिए सुवासरा ले जाया जा रहा था। परंतु चेकिंग के दौरान पुलिस ने माल से भरे वाहन को रोक। तो ड्राइवर ने बताया कि गेंहू है। पर चैकिंग की तो अंदर सरकारी चावल था। बाहर दिखाने के लिए गेंहू बिखेर रखे थे। जिससे की प्रशासन को चकमा दिया जा सके। जिसके बाद खाद्य विवरण दल को बुलाया गया। जिन्होंने आगे की कार्यवाही की। जिसके बाद व्यापारी के सभी गोदाम पर छापामार कारवाही हुई। पर शाम तक का समय मिलने की वजह से वह बिल लिया और वह कारवाही से बच गया। पहले भी वह इसी प्रकार बच गया था। कुछ दिन पहले भी प्रशासन ने सरकारी अनाज का जखीरा पकड़ा था। पर वह व्यपारी भी राजनीतिक दबदबे के चलते बच गया।