कंप्यूटर बाबा के आश्रम पर चला बुलडोजर, कांग्रेस नेता बोले, ‘शिवराज जी सिंधिया का अवैध कब्ज़ा हटाने की हिम्मत है’

इंदौर जिला प्रशासन ने कम्प्यूटर बाबा के इंदौर वाले आश्रम को रविवार को ढहा दिया, 2 महीने पहले अवैध कब्जे का नोटिस दिया था, लेकिन कब्जा नहीं हटाने पर प्रशासन ने आश्रम को तोड़ने की कार्रवाई की। इसको लेकर अब सियासत गरमा गई है

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट| मध्य प्रदेश (Madhyapradesh) की 28 सीटों पर उपचुनाव (Byelection) के नतीजे मंगलवार को आने हैं| उससे पहले प्रदेश की सियासत एक बार फिर गरमा गई है| उपचुनाव में शिवराज सरकार (Shivraj Government) के खिलाफ यात्रा निकालने वाले कंप्यूटर बाबा (Computer Baba) के गोम्मट गिरी वाले आश्रम को इंदौर जिला प्रशासन (Indore District Administration) ने ढहा दिया| वहीं बाबा को हिरासत में लेकर जेल भी भेज दिया। इधर, कांग्रेस ने इसे सरकार की बदले की कार्रवाई बताया है| कांग्रेस नेता केके मिश्रा (KK Mishra) ने सरकार पर निशाना साधा है|

कांग्रेस प्रवक्ता केके मिश्रा ने ट्वीट कर इंदौर में कंप्यूटर बाबा के खिलाफ प्रशासन की कार्रवाई पर आपत्ति जताई है| उन्होंने सवाल किया है कि प्रदेश के सबसे बड़े भूमाफिया ज्योतिरादित्य सिंधिया हैं, इन पर कार्रवाई कब होगी| केके मिश्रा ने ट्वीट कर लिखा- ‘शिवराज जी, प्रतिशोध से कंप्यूटर बाबा का अतिक्रमण तो हटा दिया है, आप व भाजपा के ही अनुसार प्रदेश के सबसे बड़े भूमाफिया ज्योतिरादित्य सिंधिया हैं,अरबों की जमीनों पर फर्जी दस्तावेजों/ट्रस्टों के नाम पर कब्जा है! कब क़ब्ज़ा हटाओगे, हिम्मत है’| मैं व्यक्तिगत रूप से अतिक्रमण करने वालों का पक्षधर नहीं हूं किन्तु कम्प्यूटर बाबा के आश्रम पर की गई कार्यवाही राजनैतिक प्रतिशोध है,उन्हें जेल भेज दिया गया है!”कैसा है जनतंत्र यहां,यहां है अद्भुत तंत्र,साधु बैठा जेल में, डाकू हैं स्वतंत्र”

गौरतलब है कि रविवार को इंदौर जिला प्रशासन ने जम्बूड़ी हप्सी गांव में सरकारी जमीन पर बने आश्रम को ढहा दिया गया। इस दौरान विरोध करने पर पुलिस ने बाबा सहित सात लोगों को जेल भेज दिया। कंप्यूटर बाबा ने मध्य प्रदेश की 28 सीटों पर हुए उपचुनाव में शिवराज सरकार के खिलाफ लोकतंत्र बचाओ यात्रा भी निकाली थी। इससे पहले भी विधानसभा चुनाव में कंप्यूटर बाबा शिवराज का विरोध करते हुए नजर आये थे| लोकसभा चुनाव में उन्होंने भोपाल से कांग्रेस के प्रत्याशी दिग्विजय सिंह के लिए जमकर प्रचार और रोड शो भी किया था| इस मामले में अब दिग्विजय सिंह का ट्वीट भी सामने आया है| उन्होंने लिखा- इंदौर में बदले की भावना से Computer बाबा का आश्रम व मंदिर बिना किसी नोटिस दिए तोड़ा जा रहा है। यह राजनैतिक प्रतिशोध की चरम सीमा है। मैं इसकी निंदा करता हूँ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here