अपनी मांग को लेकर बस मालिकों का अर्धनग्न प्रदर्शन, 108 दिनों से बंद है बस सेवा

बैतूल।वाजिद खान

मध्य प्रदेश के बैतूल में पिछले 108 दिनों से यात्री बसों के पहिये जाम है जिससे यात्रियों को परेशानी हो रही है लेकिन बस मालिक अड़े हुए है जब तक सरकार उनकी मांग पूरी नही करती तब तक वे बसे चालू नही करेंगे । इसी को लेकर पिछले डेढ़ माह में कई बार विरोध प्रदर्शन भी कर चुके लेकिन समस्या का हल नही हुआ । मंगलवार को बस मालिको ने पच्चीस किमी पैदल चल कर अर्धनग्न प्रदर्शन किया । बैतूल के मुलताई से बस मालिकों और उनके साथ ड्राइवर कंडक्टर क्लीनर और एजेंटों ने पैदल मार्च किया कुछ समय वाहनों से और बाकी समय लगभग 25 किलोमीटर पैदल चलकर बैतूल कलेक्ट्रेट पहुंचे । धूप में पैदल चलने से रास्ते में एक बस मालिक बेहोश भी हो गया और कलेक्ट्रेट के सामने भी एक व्यक्ति बेहोश हो गया ।

इस आंदोलन में बैतूल और चिचोली के बस आपरेटर और उनके कर्मचारी भी शामिल हुए । बस मालिकों की मांग है कि लॉकडाउन के दौरान बसें खड़ी रही उसका टैक्स सरकार माफ करें और आगे बस चलाने के लिए रियायत दे । आधी सवारी बैठाकर बस चलाने में बहुत ही घाटा है इसलिए सरकार बसों को अधिकृत कर खुद चलाएं हम लोगों को 50 रुपए किलो मीटर के हिसाब से भुगतान करें । दूसरी तरफ डीजल बहुत महंगा है जिसके कारण भी बस चलाना बहुत मुश्किल का काम हो गया है । अगर बस चालू होती हैं तो बस पर चलने वाले स्टाफ को कोरोना योध्दा की तरह उन्हें सुविधा मिलना चाहिए उनका बीमा होना चाहिए । प्रशासन का कहना है कि बस मालिकों की मांगे सरकार के पास रखी जाएंगी और इसका निर्णय सरकार को ही करना है ।