MP उपचुनाव: कांग्रेस को बड़ा झटका, दिनेश गिरवाल समेत 300 कार्यकर्ता BJP में शामिल

भोपाल।

जब जब चुनाव आते है दल बदलने का सिलसिला तेजी से शुरु हो जाता है। नेता कार्यकर्ता मौके की नजाकत को देखते हुए पार्टियां बदल लेते है। ऐसे में एमपी (MP) में राज्यसभा और उपचुनावों (Rajya Sabha and by-elections) से पहले एमपी में राजनैतिक पार्टियों द्वारा तोड़-फोड़ का सिलसिला शुरु हो गया है।कभी कांग्रेस बीजेपी (Congress-BJP) को मात दे रही है तो कभी बीजेपी कांग्रेस को। हालांकि बीजेपी इस खेल में कांग्रेस से आगे निकलती नजर आ रही है।अशोकनगर और सागर के बाद अब बीजेपी ने  धार के बदनावर से कांग्रेस को तगड़ा झटका दिया है। इससे पहले सांवेर, सांची, सुरखी समेत कई विधानसभा सीटों के कांग्रेस कार्यकर्ता बीजेपी में शामिल हो चुके है।

खबर मिल रही है कि भोपाल स्थित भाजपा प्रदेश कार्यालय में बदनावर से कांग्रेस के 300 कार्यकर्ता भाजपा की सदस्यता लेने पहुंचे।कांग्रेस के पूर्व विधायक राजवर्धन सिंह दत्तीगांव विधायक के क्षेत्र के है। क्षेत्र से एक साथ इतने कार्यकर्ताओं का भाजपा में शामिल होना कांग्रेस के लिए बड़ा झटका माना जा रहा है। राज्यवर्धन दत्तीगांव को बदनावर से टिकट मिलना तय माना जा रहा है।खास बात ये है कि इनके साथ धार लोकसभा क्षेत्र  से कांग्रेस के प्रत्याशी रहे दिनेश गिरवाल ने भी कांग्रेस छोड़ बीजेपी की सदस्यता ग्रहण की है। उन्होंने सिंधिया के बीजेपी में जाने के बाद कांग्रेस  से इस्तीफा दे दिया था। बताया जा रहा था कि सिंधिया के जाने के बाद से ये नेता भी शिर्ष नेतृत्व से नाराज चल रहे थे। हालांकि अपने इस्तीफ के बाद उन्होंने किसी अन्य पार्टी में जाने को लेकर कोई भी प्रतिक्रिया नहीं दी थी, लेकिन आज बीजेपी में शामिल होकर सबको चौंका दिया।

हाल ही में अशोकनगर से करीब ढाई सौ से ज्यादा कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने कांग्रेस के दो पूर्व विधायकों जजपाल सिंह जज्जी एवं बृजेंद्र यादव (former MLAs Jajpal Singh Jajji and Brijendra Yadav) के नेतृत्व में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Chief Minister Shivraj Singh Chauhan)  की मौजूदगी में भाजपा का दामन थामा था।इसके साथ ही दो दिन पहले सागर की सुरखी विधानसभा क्षेत्र के सैकड़ाें कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने खाद्य आपूर्ति व सहकारिता मंत्री गोविंद सिंह राजपूत की मौजूदगी में भाजपा की सदस्यता ली थी।भाजपा द्वारा करीब 1 हजार कांग्रेस कार्यकर्ताओं के पार्टी में शामिल हाेने का दावा किया है।

बता दे कि एमपी में सरकार गिरने के बाद से ही दोनों पार्टियों की तरफ से नेताओं-कार्यकर्ताओं को तोडने का सिलसिला जारी है।हाल ही में कांग्रेस ने जहां सांवेर से प्रेमचंद गु्ड्डू और उनके बेटे समेत ग्वालियर से बालेन्दु शुक्ला को अपनी पार्टी में शामिल किया था।आने वाले दिनों में बड़ी संख्या में नेताओं और कार्यकर्ताओं के पाला बदलने की संभावना है।