By-Election: कमलनाथ का बड़ा सवाल- ग्वालियर के लिए सिंधिया परिवार ने क्या किया

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश(Madhyapradesh) में जैसे-जैसे उपचुनाव(By-election) की तारीखों के घोषणा का वक़्त करीब आ रहा है। वैसे वैसे राजनीतिक हलचल और तेज होती जा रही है। एक तरफ बीजेपी(BJP) जहां जमीनी स्तर पर मतदाताओं को साधने की तैयारी में है। वहीं दूसरी तरफ पीसीसी चीफ कमलनाथ(PCC Chief Kamalnath) अपने 15 महीने के काम से जनता को अवगत कराने की पुरजोर कोशिश कर रहे हैं। पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ अपने कार्य को लेकर जनता के बीच आ रहे हैं। इसी बीच एक साक्षात्कार में आज मध्यप्रदेश में होने वाले उपचुनाव को लेकर खुलकर बोल रहे थे। कमलनाथ ने कहा कि मध्य प्रदेश के वोटर समझदार हो गए हैं। भले ही वह राजनीतिक वाद-विवाद में ना पड़े किंतु वो समझ रहे कि ये सरकार बोली की सरकार है। वहीँ कमलनाथ ने ये भी कहा कि दलीले देने वाले बताएं आज से पहले जो ग्वालियर का इतना नाम, इतनी पहचान थी। आज अचानक से ग्वालियर इतना पिछड़ क्यों गया। सिंधिया परिवार ने ग्वालियर के लिए क्या किया है।

दरअसल कमलनाथ ने कहा कि पिछले कई सालों में चुनाव का एवं राजनीति का स्तर बदला है। युवा राजनीति में दिलचस्पी लेने लगा है चीजों को भली-भांति समझने लगा है। वहीं पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि प्रदेश में जिस तरह से सरकार गिराई गई। क्या बाबा साहब ने कभी सोचा होगा कि अपने देश में ऐसे अनैतिक राजनीति से होगी।कमलनाथ ने कहा कि क्या किसानो को मुआवजा देना मेरी गलती थी। रोजगार के नए मौके बने थे क्या यह मेरी गलती थी। बिजली राहत दी क्या ये गलती थी हमारी सरकार की या इन्वेस्टमेंट आएं हमारी सरकार में ये मेरी गलती थी।

मुझे जनता देगी सर्टिफिकेट

उपचुनाव में कांग्रेस के चुनावी एजेंडे पर बोलते हुए पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि 15 महीने की उनकी सरकार में डेढ़ महीना आचार संहिता और चुनाव में चले गए जबकि 1 महीने सौदेबाजी में गुजरे। उन्हें कुल साढे 11 महीने का समय दिया गया। जहां कांग्रेस ने नीति और नियम का परिचय दिया। वही उन्होंने कहा कि जनता ने मेरा काम देखा है। मुझे जनता सर्टिफिकेट देगी। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान(Chiefminister shivraj singh chouhan) से सर्टिफिकेट की अपेक्षा नहीं है। कमलनाथ ने कहा कि मध्य प्रदेश की अर्थव्यवस्था का आधार कृषि है जिसे सुदृढ़ करने कि हमने कोशिश की थी और यही हम आगे भी करना चाहेंगे। वही कमलनाथ ने क्या कि प्रदेश अपने नाम से जाना जाए। अपने प्रदेश की तुलना हम गरीब प्रदेशों से ना कर विकसित प्रदेशों से करें यह मेरा सपना है।

आज ग्वालियर इतना पिछड़ क्यों गया- कमलनाथ 

वही सिंधिया(Scindia) पर तंज कसते हुए पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि आज से 50-60 साल पहले जो ग्वालियर का इतना नाम, इतनी पहचान थी। आज अचानक से ग्वालियर(Gwalior) इतना पिछड़ क्यों गया। सिंधिया परिवार ने ग्वालियर के लिए क्या किया है। कमलनाथ ने ये भी माना कि उन्होंने ग्वालियर की राजनीती में हस्तक्षेप नहीं की थी लेकिन इसके साथ ही ज्योतिरादित्य सिंधिया(Jyotiraditya scindia) से उन्होंने तीखे सवाल पूछे। ग्वालियर चंबल के इलाके को लेकर पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि पिछले कुछ सालों में ग्वालियर में कांग्रेस का संगठन मजबूत किया गया है। जिससे आगे आने वाले उपचुनाव में कांग्रेस को वहां कोई दिक्कत का सामना नहीं करना पड़ेगा।

15 साल के कार्यों का जवाब देने की वजाए मांग रहे 15 महीनों का हिसाब

वही कमलनाथ ने कहा कि अपने 15 साल के कार्यों का जवाब देने की वजाए शिवराज सरकार मुझसे 15 महीने की सरकार का हिसाब मांग रही है। आरोप की राजनीति कर रही है। शिवराज सरकार कांग्रेस से सवाल पूछ रहे हैं पर जवाब नहीं देंगे। पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि मध्यप्रदेश की पहचान माफिया से थी, मिलावट से थी। माफिया पर कार्यवाही करके मैंने इन सब चीजों पर रोक लगाने की कोशिश की। मिलावट से लड़ने के लिए शुद्ध का युद्ध शुरू किया। 15 साल से शिवराज सरकार में उपजे माफियाओं का अंत किया। ताकि मध्य प्रदेश का नाम ऊंचा रह सके।

तीन दिनों में करेंगे ग्वालियर का दौरा

शिवराज और सिंधिया के आरोपों का खंडन करते हुए पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि जब हमारी सरकार सत्ता में आई थी। तब हमने दौरे पर ध्यान नहीं दिया था हमें जनता के लिए कार्य करना था। जनता को गुमराह नहीं। जिस वजह से हम ग्वालियर चंबल और प्रदेश के कई हिस्सों का दौरा नहीं कर सके किंतु आज हम दौरा कर रहे हैं। पिछले 3 दिनों में ग्वालियर चम्बल का दौरा किया जाएगा और वहां की जनता से जनसंपर्क भी किया जाएगा।

दूसरी तरफ उपचुनाव को लेकर कांग्रेस के उम्मीदवारों पर चर्चा करते हुए पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि कांग्रेस के पास एक-एक सीट के लिए 30-30 उम्मीदवार है। बीजेपी को अपनी चिंता करनी चाहिए। कांग्रेस के लोगों में उत्साह है और वह उपचुनाव में अच्छा करेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here