Cabinet Meeting: इंटरनेशनल टूरिस्म स्पॉट बनेगा पचमढ़ी! सीएम शिवराज बोले-संयुक्त प्रयास जरूरी

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि अनोखे पर्यटन स्थल पचमढ़ी को राष्ट्रीय ही नहीं अंतर्राष्ट्रीय पर्यटन स्थल में विकसित किया जा सकता है।

cm shivraj singh chouhan

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश के पचमढ़ी में आज रविवार 27 मार्च 2022 को शिवराज कैबिनेट (Shivraj Cabinet Meeting Today 27 March 2022) की चिंतन बैठक का दूसरा दिन है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chouhan) की अध्यक्षता में चल रही इस बैठक में पहले दिन तीर्थ दर्शन योजना, लाड़ली लक्ष्मी योजना और सीएम राइस स्कूल समेत कई बड़े फैसले लिए गए।वही आज सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि पचमढ़ी को इंटरनेशनल टूरिस्म स्पॉट के रुप में विकसित किया जा सकता है, लेकिन इसके लिए प्रयास जरूरी है।वही बैठक में एक एक करके मंत्रियों द्वारा अपने-अपने विभागों का प्रेजेंटेशन दिया जा रहा है।

यह भी पढ़े.. 1 अप्रैल से जबलपुर से चलेगी ये स्पेशल ट्रेन, इन ट्रेनों का रूट बदला-फेरे बढ़े, देखें शेड्यूल

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि अनोखे पर्यटन स्थल पचमढ़ी को राष्ट्रीय ही नहीं अंतर्राष्ट्रीय पर्यटन स्थल में विकसित किया जा सकता है। इसके लिए संयुक्त प्रयास आवश्यक हैं। पचमढ़ी के पर्यटन विकास के लिए शासन, प्रशासन और आम जन के साथ जनप्रतिनिधियों की महत्वपूर्ण भूमिका है। पचमढ़ी की जलवायु, पर्वतीय संरचना, वन्य जीवन और नैसर्गिक सौंदर्य अद्भुत है। यहां जनकल्याण के उद्देश से उच्च स्तरीय बैठक का आयोजन किया गया। इसमें गंभीर और सार्थक चर्चा हुई है। अनेक योजना के स्वरुप को भी अंतिम रूप दिया जा रहा है।

यह भी पढ़े… MP Board: 10वीं-12वीं के छात्रों के लिए नई अपडेट, रिजल्ट में हो सकती है देरी, ये है कारण

सीएम शिवराज सिंह चौहान की अध्यक्षता में पचमढ़ी में दूसरे दिन की चिंतन बैठक का मंत्रिपरिषद के समस्त साथियों के साथ प्रारंभ हुई। प्रदेश सरकार का ध्येय प्रदेश की उन्नति एवं जनहित है। आज कई जनहितकारी विषयों पर निर्णय लिया जायेगा।आज पचमढ़ी में चिंतन बैठक प्रारंभ होने के पूर्व उनसे भेंट करने आए सांसद राव उदय प्रताप सिंह और अन्य जनप्रतिनिधियों से चर्चा की।जनप्रतिनिधियों ने स्थानीय स्तर पर संचालित पर्यटन विकास गतिविधियों से अवगत करवाया। पचमढ़ी में चिंतन बैठक के दूसरे दिन गत 3 से 11 जनवरी की अवधि में हुई विभागीय समीक्षा बैठकों के निर्देशों के परिपालन के लिए विभागों द्वारा किये गये कार्यों की जानकारी मंत्रियों से प्राप्त की और आवश्यक दिशा-निर्देश दिये।