भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। जैसे जैसे अक्टूबर का महिना बीतता जा रहा है वैसे वैसे मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) में मानसून  (Monsoon)  की विदाई और ठंड की दस्तक होती जा रही है। पिछले दो तीन दिनों से लगातार वातावरण में नमी कम होने लगी है और धीरे-धीरे ठंड में इजाफा हो रहा है। यही कारण है कि रात के तापमान के साथ साथ अब दिन के तापमान में भी गिरावट दर्ज होने लगी है। हालांकि वर्तमान में बंगाल की खाड़ी (Bay of Bengal) में बने एक अवदाब के क्षेत्र के कारण प्रदेश में बौछारों  (Rain) का सिलसिला जारी है।

मौसम विभाग (weather department) ने अगले चौबीस घंटों में आधा दर्जन जिलों में बारिश की संभावना जताई है। मौसम विभाग की माने तो सिस्टम के शुक्रवार को गहरा अवदाब के क्षेत्र में तब्दील होकर आगे बढ़ने की संभावना है, लेकिन उत्तर-पूर्व के इलाकों में भारी बारिश की आंशका है, हालांकि इसके प्रभाव से मप्र के मौसम में विशेष परिवर्तन की संभावना नहीं है।विभाग की माने तो आने वाले दस दिनों तक बंगाल की खाड़ी और अरब सागर में कोई नया सिस्टम बनने की संभावना नहीं है, ऐसे में अब हवाओं का पेटर्न (उत्तर-पश्चिमी) ठंड के मौसम के अनुकूल होने के आसार हैं, जिसके चलते प्रदेश में ठंड पड़ सकती है।

दशहरे के बाद बढ़ेगी ठंड

मौसम विभाग की माने तो , 27 अक्टूबर से हवा का रुख उत्तरी हाे सकता है। इसके कारण रात में ठंडक और बढ़ेगी। जिसके साथ ही उत्तर से सर्द हवा आने लगेगी। मध्यप्रदेश में दशहरे के बाद से ठंड की शुरुआत हो जाएगी। पूरे नवंबर के महीने में हल्की सर्दी बनी रहेगी। कड़ाके की ठंड की शुरुआत दिसंबर से होगी। इस बार इंदौर सहित प्रदेशभर में नवंबर में हल्की सर्दियों से ठंड की शुरुआत होगी।दिसंबर माह में ही शीत लहर व शीतल दिन की स्थिति बनने की संभावना है।

इन जिलों में आज बारिश के आसार

बुरहानपुर, खरगोन, बड़वानी, अलीराजपुर, धार, उज्जैन जिलों में बारिश की संभावना

MP Weather Update : मप्र के इन जिलों में बारिश के आसार, दशहरे के बाद बढ़ेगी ठंड