भोपाल। 20 मार्च का दिन कांग्रेस के लिये प्रदेश में ब्लैक फ्राइडे साबित हुआ। पिछले कई दिनों से चल रहे सियासी संग्राम का पटाक्षेप कमलनाथ के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफे के रूप में हुआ। इसी के साथ बीजेपी में जश्न का माहौल शुरू हो गया और आगामी मुख्यमंत्री कौन होगा इसे लेकर भी चर्चाओं का दौर शुरू हो गया है।

लेकिन इसी बीच एमपी कांग्रेस के एक ट्वीट ने सियासी गलियारों में फिर हलचल पैदा कर दी है। इस ट्वीट में एमपी कांग्रेस ने दावा किया है कि 15 अगस्त 2020 को कमलनाथ मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री के तौर पर ध्वजारोहण करेंगे और परेड की सलामी लेंगे।

बता दें कि शुक्रवार को कमलनाथ ने अपनी प्रेस कॉन्फ्रेंस में भी एक जुमला कहा था कि आज के बाद कल आता है और कल के बाद परसो, और परसो आएगा। इस बात पर वहां मौजूद कांग्रेस विधायकों और नेताओं ने खूब तालियां भी बजाई थी लेकिन इसका अर्थ किसी की समझ में नहीं आया। अब एमपी कांग्रेस के ट्विटर हैंडल से इस ट्वीट के बाद ये कयास लगने शुरू हो गए हैं कि क्या कमलनाथ की उस बात और इस ट्वीट में कोई संबंध है। क्या कांग्रेस अब भी दौड़ में है और उसके पास कोई प्लान-बी है और क्या आने वाले दिनों में प्रदेश की राजनीति में कुछ और अप्रत्याशित परिवर्तन होने की संभावना है।

15 साल बाद महज़ 15 महीनों मे सत्ता खो देना कांग्रेस के लिये बड़ा झटका है। कमलनाथ के इस्तीफे के बाद ही राजनीतिक पंडित कह रहे हैं कि अब उसकी प्रदेश की सत्ता में जल्द वापसी के फिलहाल कोई आसार नहीं दिख रहे हैं, लेकिन इसी बीच एमपी कांग्रेस के इस ट्वीट ने सियासी गलियारों में एक बार फिर हलचल तेज़ कर दी है।

15 अगस्त को मुख्यमंत्री कमलनाथ करेंगे ध्वजारोहण, कौन कर रहा ये दावा!