अब से व्हाट्सएप पर दर्ज होगी CM Helpline की शिकायत, नंबर जारी

अब तक सीएम हेल्पलाइन (CM Helpline) नंबर 181 पर शिकायत दर्ज की जाती थी पर अब व्हाट्सएप नंबर जारी कर दिया गया है, प्रदेशवासी अब 7552555582 नंबर पर अपनी शिकायतें दर्ज करा सकते हैं।

भोपाल,डेस्क रिपोर्ट। सरकारी विभागों (Government departments) से जुड़ी समस्याओं और शिकायतों (Complaints) के निराकरण के लिए राज्य सरकार द्वारा शुरू की गई मुख्यमंत्री हेल्पलाइन (CM Helpline) पर अब लोग व्हाट्सएप (Whats app) के जरिए भी शिकायत दर्ज (complaint filed) करा सकते हैं। लोगों में व्हाट्सएप (Whats app) के चलन को देखते हुए राज्य सरकार द्वारा यह फैसला लिया गया है।

आजकल व्हाट्सएप के जरिए लोग अपने पर्सनल (Personal) और प्रोफेशनल (Proffesional) दोनों काम आसानी से कर सकते हैं और इसी लोकप्रियता को देखते हुए सरकार ने व्हाट्सएप के जरिए शिकायत दर्ज करने का फैसला लिया है। अब तक सीएम हेल्पलाइन (CM Helpline) नंबर 181 पर शिकायत दर्ज की जाती थी पर अब व्हाट्सएप नंबर जारी कर दिया गया है, प्रदेशवासी अब 7552555582 नंबर पर अपनी शिकायतें दर्ज करा सकते हैं।

यह फैसला सरकार द्वारा गुरुवार को हुई समाधान ऑनलाइन बैठक में लिया गया। इस बैठक में सीएम ने व्हाट्सएप के जरिए शिकायत लेने के निर्देश जारी किए हैं। वही हाल ही में सीएम द्वारा ऐलान किया गया था कि प्रदेश में सीएम हेल्पलाइन 181 (CM Helpline 181) के अंतर्गत मोबाइल के माध्यम से प्रदेशवासी अपना जाति प्रमाण पत्र और आय प्रमाण पत्र एक ही दिन में व्हाट्सएप के जरिए प्राप्त कर सकते हैं। व्हाट्सएप के जरिए मिलने वाला जाति प्रमाण पत्र और आय प्रमाण पत्र देने वाला मध्यप्रदेश देश का पहला राज्य बन गया है।

वही बैठक में सीएम द्वारा सख्त निर्देश दिए गए हैं कि प्रदेश में सुशासन के लिए जनता को सरकारी योजनाओं का लाभ समय पर दिया जाए। अगर इसमें जरा भी देरी होती है तो दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा। दोषी अफसरों और कर्मचारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। साथ ही सीएम ने यह निर्देश भी दिए हैं कि विद्यार्थियों को  समय पर छात्रवृति योजनाओं के अंतर्गत को पैसे दे दिए जाएं। वही सीएम हेल्पलाइन में आई समस्याओं का निराकरण करने वाले छतरपुर देवास सिवनी छिंदवाड़ा सिंगरौली बुरहानपुर होशंगाबाद डिंडोरी रतलाम झाबुआ जिले द्वारा किए गए बेहतर प्रदर्शन की मुख्यमंत्री ने तारीफ भी की। बता दें साल 2014 में सीएम हेल्पलाइन की शुरुआत की गई है। सीएम हेल्पलाइन शुरु करने का मकसद बिना किसी ऑफिस को चक्कर लगाए लोगों को कॉल पर ही उनकी समस्याओं का निराकरण करना थी।