इंदौर/ आकाश धोलपुरे

इंदौर नगर निगम के एक नोटिस ने प्रदेश की राजनीति में बवाल खड़ा कर दिया है। दरअसल, आज महामंडलेश्वर कंप्यूटर बाबा के विद्या धाम के पीछे स्थित अम्बिकापुरी आश्रम के नक्शे को लेकर जोन 16 के भवन अधिकारी का नोटिस सामने आया है, जिसके बाद प्रदेशभर में लोकतंत्र बचाओ यात्रा निकालने वाले कंप्यूटर बाबा ने फैसले को राज्य सरकार के खिलाफ किये जा रहे प्रदर्शन से जोड़कर साफ शब्दो मे कहा कि मैं तो बाबा हूँ, मेरा कुछ नही और इंदौर के दो आश्रमो सहित प्रदेश में नर्मदा से लगे हुए 14 और आश्रम है जिन्हें वो तुड़वा दे। उन्होंने कहा कि एक तरफ तो बीजेपी सरकार के पीएम राम मंदिर का भूमि पूजन करने जा रहे, वही दूसरी तरफ प्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान बाबर बनकर उसकी तर्ज पर मठ मन्दिरो को तुड़वाने में लगे है।

कंप्यूटर बाबा आज लोकतंत्र बचाओ यात्रा के इंदौर आगमन पर इंदौर के श्री राम मंदिर पंचकुइयां आश्रम पहुंचकर मीडिया से मुखातिब हुए और उन्होंने उन्होंने साफ किया कि लोकतंत्र के हत्यारों, बिकाऊ उम्मीदवारों के खिलाफ उनका विरोध जारी रहेगा। वही शिवराज सरकार को अधर्मी बताते हुए लोकतंत्र की हत्या करने वाली करार दिया और कंप्यूटर बाबा ने जनता उन्हें कभी माफ नहीं करेगी।

वही राम मंदिर के भूमि पूजन के मामले में कंप्यूटर बाबा ने पीएम मोदी को घेरते हुए कहा कि ये दुर्भाग्य है कि पीएम और संघ को ये नही मालूम है कि चारो शंकराचार्य और हमारे जगदगुरु जी को बुलाना चाहिए था, लेकिन उन्हें नहीं बुलाया। वही उन्होंने शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती की बात से सहमति जताते हुए कहा कि चातुर्मास में छोटे से छोटा व्यक्ति न तो ईंट रखता है या भूमिपूजन करता है और ना किसी मकान में प्रवेश करता है ये दुःख की बात है।

जब मीडिया ने कंप्यूटर बाबा से सवाल किया कि वो चुनाव के समय आप जागृत हो जाते है, तब बाबा ने कहा कि संत समाज न तो बीजेपी में था और ना कांग्रेस में है। संत समाज तो नर्मदा की रक्षा के लिए आगे आता है। वहीं उन्होंने लोकतंत्र की हत्या को लेकर कहा कि 5 साल के लिए सरकार चुनी गई थी आपने बीच में चुनाव ला दिया। कंप्यूटर बाबा ने प्रदेश सरकार को चेतावनी देते हुए कहा कि जनता के साथ धोखा किया गया है और सरकार कितने ही आश्रम तोड़ दे कंप्यूटर बाबा लोकतंत्र की हत्या नही होने चाहे उसकी हत्या हो जाएं। उन्होंने कहा कि हम संत है आप सबकुछ तोड़ दो जब कुछ नही बचेगा तो पूरा संत समाज सीएम हाउस के सामने रहेगा।

कंप्यूटर बाबा ने एक दावा किया कांग्रेस छोड़कर जाने वाले हमारे सम्पर्क में थे और हमने उनसे कहा था कि आपको कही जाना नही चाहिए, क्योंकि आपको जनता ने चुना है। अब जनता 25 गद्दारों से पूछेगी की आप कितने में बिके है। ऐसे हालात में लोकतंत्र की हत्या करने वालो और संविधान के बचाव के लिए संत समाज हमेशा आगे रहेगा और जनता सभी को जबाव देगी।