कंप्यूटर बाबा आश्रम मामला: दूसरे दिन भी अवैध ठिकानों पर प्रशासन की कार्रवाई जारी

जानकारी के मुताबिक सोमवार को कंप्यूटर बाबा के द्वारा सुपर कॉरिडोर में किए गए अतिक्रमण पर प्रशासन ने कार्यवाही शुरू कर दी है जहां बड़ी संख्या में प्रशासनिक अमला पहुंचा है इसके अलावा अम्बिकापूरी एक्सटेंशन के भी अवैध निर्माण हटाया जाना है।

कंप्यूटर बाबा

इंदौर, आकाश धोलपुरे। इंदौर में हैंग पड़ चुके कंप्यूटर के सीपीयू को नष्ट करने बाद, अब फ्लॉपी, माउस, की – बोर्ड सहित समूचे सॉफ्टवेयर को उड़ाकर हार्ड वेयर को हटाया ज रहा है। दरअसल, यहां हम किसी कंप्यूटर की बात नही कर रहे बल्कि हम बात कर रहे कंप्यूटर बाबा की जो नामदेव त्यागी से कंप्यूटर बाबा तक सफर कर प्रदेश सरकार में मंत्री भी रह चुके थे। प्रदेश के एक दिग्गज नेता ने नामदेव त्यागी को कंप्यूटर बाबा नाम दिया था जिसके बाद बाबा ने इंदौर के गोमटगिरी पर अपना अस्थान याने की आश्रम बना लिया था।

धीरे धीरे चर्चाओं में आ रहे कंप्यूटर बाबा की प्रसिद्धि उनके अनूठे नाम से बढ़ती गई और वो शिवराज सरकार में मंत्री के पद से भी नवाजे गये। आखिर में जब वो धर्म के प्रचार की बजाय राजनीतिक महत्वाकांक्षी बने तो उनके दुश्मन भी बढ़ गए और अंततः कंप्यूटर बाबा के 80 करोड़ की कीमत के किले को रविवार को अचानक हुई कार्रवाई के बाद ढहा दिया गया और सोमवार को प्रशासन को मिली शिकायतो सूचना के आधार पर कार्रवाई शुरू की गई।

यह भी पढ़े: MP उपचुनाव 2020 : परिणाम के बाद मप्र कांग्रेस संगठन में हो सकते है बदलाव

जानकारी के मुताबिक सोमवार को कंप्यूटर बाबा के द्वारा सुपर कॉरिडोर में किए गए अतिक्रमण पर प्रशासन ने कार्यवाही शुरू कर दी है जहां बड़ी संख्या में प्रशासनिक अमला पहुंचा है इसके अलावा अम्बिकापूरी एक्सटेंशन के भी अवैध निर्माण हटाया जाना है। वही प्रशासन ने इंदौर विकास प्राधिकरण की योजना क्रमांक 151 में शामिल लगभग पाँच करोड़ रुपये मूल्य की 20 हज़ार वर्गफीट ज़मीन अतिक्रमण से मुक्त कराई है। फिलहाल, पुलिस और प्रशासन आने वाली शिकायतों और सूचना के आधार पर आगे भी इस तरह की कार्रवाई जारी रखेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here