कांग्रेस ने मनाया लोकतंत्र सम्मान दिवस, CM शिवराज-सिंधिया के लिए कही ये बड़ी बात

कांग्रेस से ज्योतिरादित्य सिंधिया का अध्याय समाप्त हो चुका है। वो भारतीय जनता पार्टी के एक मेंबर है

इंदौर, आकाश धौलपुरे। एक साल पहले आज ही के दिन याने 20 मार्च 2020 को मध्यप्रदेश में सत्ता परिवर्तन हुआ था और 15 साल बाद सत्ता में आई कांग्रेस (Congress) की कमलनाथ सरकार (Kamal nath Government) विश्वास मत हासिल नहीं कर पाने से सत्ता से बाहर हो गई और एक बार फिर बीजेपी (BJP) और शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) प्रदेश की सियासत में चमक उठे थे।

ये भी पढ़ें – MP School: 9वीं से 12वीं तक के छात्रों के लिए शासकीय स्कूल ने की बड़ी व्यवस्था, आदेश जारी

इस दिन को कांग्रेस (Congress)  ने इंदौर में तिरंगा झंडा लेकर “लोकतंत्र सम्मान दिवस” के रूप में मनाया। इंदौर के गांधी भवन स्थित कांग्रेस कार्यालय में आज कांग्रेसी (Congress) कार्यकर्ताओं ने पीसीसी अध्यक्ष कमलनाथ के निर्देश के मुताबिक लोकतंत्र सम्मान दिवस मनाया था। कांग्रेस (Congress)  का मानना है कमलनाथ सरकार को नोटों के दम पर गिराकर लोकतंत्र की हत्या करने वाली भाजपा सरकार के खिलाफ और खरीद-फरोख्त की राजनीति को ठुकराते हुए कमलनाथ ने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था।

इस मौके पर पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने कहा कि कोरोना महामारी की ही तरह बीजेपी, नरेंद्र मोदी और आरएसएस की विचारधारा ने लोकतंत्र की हत्या की है। उन्होंने कहा कि 8 राज्यों में लगातार चुनी हुई सरकारों को गिराना अगर लोकतंत्र बचाना है तो सबसे पहले इस विचार से लड़ना होगा क्योंकि जो वोट मिला उसकी हत्या कर दी गई। उन्होंने कहा कि बीजेपी ने आज ही के दिन प्रदेश में लोकतंत्र की हत्या की और संविधान का मखौल उड़ाया और संविधान निर्माता बाबा साहब अंबेडकर की अवहेलना भी की और उसी के भावना अनुरूप पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने आदेश दिया है कि हम सबको लोकतंत्र की रक्षा करना है, संविधान की रक्षा करना है। आज के दिन लोगो को याद दिलाना है कि जो सत्ता में बैठे वो लोकतंत्र के हत्यारे है। उन्होंने सीधे सीएम शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chauhan) पर सवाल उठाया और कहा कि जरूर वो मुख्यमंत्री बने बैठे है लेकिन हम उनका विरोध करते है और वो लोकतंत्र के हत्यारे हैं ।

इधर, ज्योतिरादित्य सिंधिया को लेकर पूर्व मंत्री और विधायक जीतू पटवारी ने तंज कसा और कहा कि पहले भी कई बार बता चुके हैं उनके बारे में। कांग्रेस (Congress) से ज्योतिरादित्य सिंधिया का अध्याय समाप्त हो चुका है। वो भारतीय जनता पार्टी के एक मेंबर है। वही संस्थागत बीजेपी लोकतंत्र की हत्या करना चाहती है और कांग्रेस (Congress) पार्टी उसका विरोध करते हुए लोकतंत्र की रक्षा करना चाहती है और करती रहेगी।