संकट काल मे बिजली बिलों को लेकर कांग्रेस का उपवास

इंदौर।आकाश धोलपुरे।

रोजगार और व्यापार को चौपट करने वाले कोरोना संकट काल मे आम आदमी की कमर आर्थिक तंगी ने तोड़ रखी है। ऐसे में इंदौर में कांग्रेस के प्रदेश सचिव ने अपने घर की छत पर बिजली के बिलो को माफ किये जाने को लेकर उपवास शुरू कर दिया है। दरअसल, सुनो शिवराज, सुनो सरकार की तख्ती लगाकर अपने घर की छत पर अनशन पर बैठे प्रदेश कांग्रेस सचिव विवेक खंडेलवाल ने उपवास रख प्रदेश सरकार का विरोध किया। कोरोनाकाल और लॉक डाउन के नियमों के पालन करने के चलते अनूठे तरीके से किये गए विरोध प्रदर्शन के जरिये कांग्रेस ने प्रदेश के आम और खास लोगो के बिजली के बिलो को माफ करने की मांग की है। कांग्रेस नेता ने बताया कि प्रदेश सरकार को हर हाल में 3 माह के बिजली बिलों को माफ करना होगा। अनशन पर बैठे विवेक खंडेलवाल के मुताबिक कोरोना महामारी के कारण लगाए गए लॉक डाउन को 48 दिन से ऊपर हो चले है ऐसे मे पूरे प्रदेश में आम आदमी बेरोजगार है।

ना व्यापार है और ना ही नौकरी है ऊपर से बिजली उपभोक्ता को हजारों रुपये के बिजली के बिल भेजे जाना प्रदेश सरकार की मंशा पर सवाल खड़े कर रही है। उन्होंने बताया कि कांग्रेस सरकार द्वारा प्रदेश के करोड़ो लोगो को राहत देने के लिए लागू योजना इंदिरा गृह ज्योति योजना को भी बन्द कर प्रदेश की बीजेपी सरकार ने संबल योजना लागू की है जिससे कुछ लोगो की ही फायदा मिलेगा। ऐसे में कांग्रेस ने मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंग चौहान से उपवास के जरिये तत्काल आम जनता के 3 महीने का बिजली बिल माफ करने की मांग की है। बिजली बिल माफी की मांग को लेकर एक दिवसीय सांकेतिक उपवास करने वाले कांग्रेस के प्रदेश सचिव ने कांग्रेसी कार्यकर्ताओं से भी आग्रह किया है कि वो सरकार को जगाने के लिए व्यापक स्तर पर उपवास मुहिम में जुटकर अपने स्तर पर घरों की छतों पर उपवास करे।