भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश में एक तरफ जहां आगामी उपचुनाव को लेकर तैयारियां शुरु है। वहीं दूसरी तरफ नेताओं पर आरोप प्रत्यारोप का दौर भी जारी है। एक तरफ जहां सत्ताधारी पार्टी विपक्ष को हर मुद्दे पर घेरने की तैयारी में है। वहीं दूसरी तरफ विपक्ष लगातार सिंधिया तथा कई मामलों को लेकर शिवराज सरकार पर निशाना बना रही है। इसी बीच ग्वालियर चंबल में बीजेपी नेताओं द्वारा किया गया सदस्यता अभियान मध्य प्रदेश के राजनीतिक गलियारों में चर्चा का विषय बना हुआ है। जिस पर कांग्रेस के लगातार हमलावर होने के बाद अब नरोत्तम मिश्रा ने बड़ा बयान दिया है। नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि ग्वालियर में कांग्रेस के नेता पॉलिटिकल पर्यटन के लिए जुटे थे। मिश्रा ने कहा कि कांग्रेस भ्रष्टाचार की आंधी थी जो अब उड़ गई है।

नरोत्तम मिश्रा ने मीडिया से चर्चा में कहा कि ग्वालियर चंबल की सदस्यता अभियान पर केबल टिकट मांगने वाले नेता ही बहस कर रहे थे। कमलनाथ सरकार झूठ और भ्रष्टाचार की आंधी थी। जो बवंडर बनकर अब पूरी तरह से प्रदेश से उड़ चुकी है। नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि कांग्रेसी लगातार कह रहे थे कि प्रदेश में कमलनाथ जी की आंधी चल रही है। जबकि वही आंधी कमलनाथ सरकार को प्रदेश से उड़ा कर ले गई।

वहीं दूसरी तरफ बीजेपी सरकार द्वारा प्रदेश में लोकतंत्र की हत्या पर कांग्रेस के आरोप पर बोलते हुए गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि जो पार्टी अपने आंतरिक लोकतंत्र की रक्षा नहीं कर सकती। वह देश का लोकतंत्र बचाने की बात कैसे कर सकती है। कांग्रेस पार्टी ऐसी पार्टी है जहां अगर कोई विधायक बाहर चले जाए तो लोकतंत्र खतरे में आ जाता है और लौट आए तो लोकतंत्र का पुनर्जन्म हो जाता है। ऐसी पार्टी किसी लोकतंत्र की बात कैसे कर रही है।

बता दें कि ग्वालियर चंबल में तीन दिवसीय सदस्यता अभियान को लेकर लगातार मामला गरमाता जा रहा है। एक तरफ जहां बीजेपी दावे कर रही है कि करीब 70000 कांग्रेसी कार्यकर्ता बीजेपी में शामिल हुए हैं वहीं दूसरी तरफ कांग्रेस का कहना है कि यह फर्जी आंकड़े हैं।कांग्रेसी अभी कह रही है कि जितने भी कांग्रेसी कार्यकर्ता बीजेपी में शामिल हुए हैं वह बरसात के कीड़े की तरह हैं। जो समय बदलते ही वापस फिर से पार्टी में आएंगे। वहीं दूसरी तरफ कांग्रेस भी ग्वालियर चंबल में सदस्यता अभियान शुरू करने की तैयारी में है जिसको लेकर लगातार वह ज्योतिरादित्य सिंधिया और बीजेपी सरकार पर हमलावर हो रही है।