एंटी माफिया अभियान का पहला निशाना बने कांग्रेस नेता, मैरिज गार्डन पर चला बुलडोजर  

अशोक सिंह के भाई एवं बालाजी मैरिज गार्डन की पॉवर ऑफ़ अटॉर्नी संभाल रहे इन्दर सिंह ने कहा कि  प्रशासन की कार्रवाई गैर क़ानूनी है, हमारा मामला कोर्ट में चल रहा है और कोर्ट से हमें स्टे मिला हुआ है

ग्वालियर, अतुल सक्सेना।  मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Chief Minister Shivraj Singh Chauhan) ने दो  दिन पहले प्रदेश के अफसरों को माफिया के खिलाफ सख्त एक्शन लेने के निर्देश दिए थे।  मुख्यमंत्री के निर्देश के बाद ग्वालियर जिला प्रशासन (Gwalior District Administration) के अफसरों ने बैठक की और आज बुधवार को कांग्रेस के प्रदेश उपाध्यक्ष अशोक सिंह (Congress State Vice President Ashok Singh)  के मालिकाना हक़ वाले बालाजी मैरिज गार्डन (Balaji Marriage Garden)पर बुलडोजर (Bulldozer) चला दिया।  परिजनों ने कार्रवाई का विरोध करते हुए इसे गैरकानूनी बताया और कहा कि हमारे पास स्टे है मामला न्यायालय में है लेकिन  प्रशासन के अफसरों ने कहा कि जिस जमीन से वे अतिक्रमण हटाने आये हैं वो सरकारी है।

विधानसभा उप चुनाव (By election) के बाद माफिया के खिलाफ सख्त हुई शिवराज सरकार (Shivraj government)के निर्देश पर ग्वालियर जिला प्रशासन भी सख्ती के मोड पर है।  जिला प्रशासन की सख्ती का पहला निशाना बने कांग्रेस के प्रदेश उपाध्यक्ष एवं एपेक्स बैंक के पूर्व चेयर मेन अशोक सिंह।  एडीएम आशीष तिवारी के नेतृत्व में पहुंची जिला प्रशासन, नगर निगम और पुलिस की संयुक्त टीम ने अशोक सिंह के मालिकाना हक़ वाले बालाजी मैरिज गार्डन के कुछ हिस्से को जेसीबी से ढहा दिया। कार्रवाई की सूचना पर अशोक सिंह के परिजन वहां पहुँच गए और कार्रवाई का विरोध करने लगे।  अशोक सिंह के भाई एवं बालाजी मैरिज गार्डन की पॉवर ऑफ़ अटॉर्नी संभाल रहे इन्दर सिंह ने कहा कि  प्रशासन की कार्रवाई गैर क़ानूनी है, हमारा मामला कोर्ट में चल रहा है और कोर्ट से हमें स्टे मिला हुआ है हमने प्रशासन को रोकना चाहा लेकिन  वो नहीं रुका और उसने हमारा निर्माण तोड़ दिया।

उधर जिला प्रशासन और राजस्व विभाग की टीम का कहना है कि जिस जमीन पर बालाजी गार्डन बनाया गया है वह ग्राम गोसपुरा सर्वे क्रमांक 1912 की जमीन है और करीब 5400 वर्ग फीट क्षेत्रफल में अवैध रूप से निर्माण किया गया है। प्रशासन की टीम ने स्टे की कॉपी देखने हुए कुछ फोन आने के बाद कार्रवाई को रोक दिया और  24 घंटे का अल्टीमेटम और नोटिस देकर मौके से रवाना हो गई है।  अधिकारियों  ने कहा कि हम स्टे की कॉपी का स्टडी कर रहे हैं। बहरहाल मुख्यमंत्री की सख्ती के बाद एंटी माफिया अभियान के तहत  जिले की पहली कार्रवाई कांग्रेस के बड़े नेता के मैरिज गार्डन पर होना शहर में चर्चा का विषय बना हुआ है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here