कांग्रेसी दिग्गज और पूर्व केंद्रीय राज्यमंत्री रामलाल राही का कोरोना से निधन

जिला कांग्रेस सहित वरिष्ठ नेताओं ने उनके निधन पर शोक जताया है। इसके साथ ही साथ उन्हें जन नेता की उपाधि दी है।

सीतापुर, डेस्क रिपोर्ट। कांग्रेस (congress) के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय गृह राज्यमंत्री रामलाल राही (Ramlal Rahi) का गुरुवार को निधन हो गया। रामलाल राही कुछ दिनों से बीमार चल रहे थे। इसके बाद उन्हें अस्पताल (hospital) में भर्ती कराया गया था। जहां इलाज के दौरान हृदयाघात (Heart attack) से उन्होंने अंतिम सांस ली। दिग्गज नेता की मौत की खबर से राजनीतिक गलियारों में शोक की लहर दौड़ गई। उनके निधन पर पार्टी ने शोक जताया है।

दरअसल कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय गृह राज्य मंत्री रामलाल राही का गुरुवार को सीतापुर के जिला अस्पताल में निधन हो गया। सांस लेने में दिक्कत होने की वजह से परिजनों द्वारा उन्हें 11:30 बजे जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया था। जहां जांच के दौरान वह कोरोना पॉजिटिव (Corona positive) भी पाए गए। इलाज के दौरान 86 वर्षीय पूर्व केंद्रीय मंत्री को अटैक पड़ने से उनके सांसे थम गई। बता दें कि उन्हें दिल की भी बीमारी थी।

Read More: प्रदेश में कोरोना की स्थिति काफी कुछ नियंत्रण में है, लेकिन सावधानियां न छोड़ें : मुख्यमंत्री

ज्ञात हो कि 1977 में पहली बार सांसद (MP) चुने गए। इसके अलावा वह मिश्रीक गांव से तीन बार सांसद रहे। जबकि पूर्व केंद्रीय मंत्री रामखेलावन राही सीतापुर से दो बार विधायक (MLA) भी रहे। इसके अलावा उन्हें नरसिम्हा सरकार (Narsimha government) में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री का पद दिया गया। हालांकि 2017 के विधानसभा चुनाव से पहले रामलाल राही बीजेपी (BJP) में शामिल हुए थे लेकिन 2 साल के बाद 2019 में वह एक बार फिर से कांग्रेस में शामिल हो गए। रामलाल राही के बेटे सुरेश राही उत्तर प्रदेश के हरगांव से भाजपा विधायक हैं। पूर्व केंद्रीय राज्य मंत्री रामलाल राही के निधन से पार्टी में शोक की लहर दौड़ पड़ी है। जिला कांग्रेस सहित वरिष्ठ नेताओं ने उनके निधन पर शोक जताया है। इसके साथ ही साथ उन्हें जन नेता की उपाधि दी है।