राजभवन में बेकाबू हुआ कोरोना, फिर मिले 5 पॉजिटिव

भोपाल।

भोपाल में अनलॉक के बाद से संक्रमण के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। लगातार मिल रहे संक्रमित ने परेशानी बढ़ा रखी है वहीँ राजभवन के कर्मचारी लगातार कह रहे है कि कोरोना से बचने के लिए वहां उत्तम व्यवस्थाओं का अकाल है। इसी बीच भोपाल में शुक्रवार को 50 लोगों की जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। वहीँ भोपाल में राजभवन संक्रमण का सबसे बड़ा केंद्र बनता जा रहा है। यहां 5 और लोग पॉजिटिव पाए गए हैं। इसी के साथ राजभवन में अब तक 37 लोग संक्रमण का शिकार हो चुके हैं।

दरअसल शुक्रवार को राजभवन में फिर संक्रमित कर्मचारियों की पुष्टि हुई है। साथ ही जीएमसी के स्टाफ क्वार्टर से तीन लोग संक्रमित मिले हैं। हॉटस्पॉट शाहजहांनाबाद से भी 5 संक्रमित सामने आए हैं। मुगलिया छाप क्वारैंटाइन सेंटर से भी एक संदिग्ध की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। शहर के जुमेराती गेट, साकेत नगर, करोंद, पिपलानी समेत अन्य क्षेत्रों से संक्रमित मिले हैं।

वहीँ दूसरी तरफ मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने दावा किया हैं कि प्रदेश के पॉजिविटी रेट देश के पॉजिविटी रेट 6.26 से काफी कम 3.92 प्रतिशत है। वहीं डबलिंग रेट 47.7 दिन है, जो अन्य बड़े राज्यों में ज्यादा है। वहीँ प्रदेश में संक्रमण की रफ्तार को कम करने में ज्यादा सफलता मिली है। बताया गया कि प्रदेश में 47 जिलों में कम से कम एक एक्टिव केस और 23 जिलों में 10 से कम एक्टिव केस हैं। पांच जिलों में एक भी एक्टिव केस नहीं है।मगर फ़िलहाल राजभवन में कोरोना को नियंत्रित करना सरकार के लिए बड़ी चुनौती है।