हाई कोर्ट में बड़ा कोरोना ब्लास्ट, 50 से ज्यादा कर्मचारी मिले पॉजिटिव, मचा हड़कंप

लगातार बिगड़ते हालात के बाद अब उच्च न्यायालय एक सप्ताह के लिए बंद करने की मांग जोर पकड़ने लगी है|

इंदौर, आकाश धोलपुरे| इंदौर (Indore) में कोरोना (Corona) का कहर बढ़ता जा रहा है| संक्रमण अब हाई कोर्ट (Highcourt) तक पहुँच गया है| हाईकोर्ट की इंदौर खंडपीठ में कोरोना का बड़ा ब्लास्ट (Corona BLast) हुआ है| यहां कुल 50 से ज्यादा लोग संक्रमित पाए गए हैं| शुक्रवार को 35 नए मरीजों की पुष्टि हुई है| लगातार बिगड़ते हालात के बाद अब उच्च न्यायालय एक सप्ताह के लिए बंद करने की मांग जोर पकड़ने लगी है|

बताया गया कि 23 नवंबर को जांच में पांच, 24 को तीन और 25 नवंबर को नौ कर्मचारी पॉजिटिव पाए गए थे। इसके बाद शुक्रवार को हुई जांच में 35 कर्मचारियों के एक साथ संक्रमित होने की पुष्टि हुई है। इतनी बड़ी संख्या में कर्मचारियों के संक्रमित होने से हड़कंप मच गया है| इंदौर खंडपीठ में कोरोना मरीजों की संख्या में इजाफा होने के बाद बार एसोसिएशन ने मुख्य न्यायाधीश से एक हफ्ते तक कोर्ट की कार्यवाही स्थगित करने की मांग की है|

साउथ तुकोगंज और खातीवाला टैंक कंटेंनमेंट एरिया घोषित
कोरोना के बढ़ते हुए संक्रमण को देखते हुए शहर के साउथ तुकोगंज और खातीवाला टैंक क्षेत्र को कंटेंनमेंट एरिया घोषित किया गया है। इस संबंध में कलेक्टर मनीषसिंह ने आदेश जारी किए हैं। जिन घरों में पॉजिटिव के केस पाये गये है, उन घरों को एपीसेंटर घोषित किया गया है। इसी तरह संक्रमण की रोकथाम हेतु कंटेनमेंट एरिया के अंतर्गत पूर्ण रूप से आवागमन प्रतिबंधित रहेगा एवं इस एरिया में अंदर आना एवं बाहर जाना भी पूर्ण रूप से प्रतिबंधित होगा। कंटेनमेंट एरिया में स्वास्थ्य कर्मचारियों द्वारा सतत स्क्रीनिंग की जाएगी। इसके लिए दलों का गठन भी किया गया है। समस्त दल कोरोना वायरस संदिग्ध केस की मानिटरिंग प्रतिदिन करेंगे, एवं कोरोना संक्रमण के संभावित लक्षण जैसे बुखार, खांसी, गले में दर्द एवं श्वास लेने में तकलीफ आदि लक्षण आने पर वरिष्ठों को सूचना देना सुनिश्चित करेंगे। कोविड-19 के सस्पेक्टेड केस की मानिटरिंग करेंगे। पॉजिटिव मरीजों के परिजन, निकट संपर्क को कोरेंटाइन कराना, उनका फॉलोअप लेना आदि कार्य भी दलों द्वारा किया जाएगा।