इंदौर में फूटा कोरोना का बम, 4500 के पार पहुंचा आंकड़ा, 4 की मौत

सिंगरौली कलेक्टर
Corona Virus In Red Background - Microbiology And Virology Concept - 3d Rendering

इंदौर।

मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के मिनी मुंबई कहे जाने वाले इंदौर में कोरोना की रफ़्तार एक बार फिर तेज़ होने लगी है। लगातार नए मामले प्रशसन की नींद उड़ाए हुए हैं। इसी बीच बुधवार काे इंदौर में 46 नए पाॅजिटिव मरीज मिले हैं।जिसके साथ ही जिले में संक्रमितों की संख्या 4507 पहुँच गयी है। वहीँ चार मऱीज की मौत हो चुकी है।

दरअसल इंदौर में बुधवार को 46 नए पॉजिटिव(positive) पाए गए। वहीँ चार मरीज की इंदौर में मौत हो गई है। संक्रमण अब पुराने शहर से होते हुए इंदौर(indore) रोड की कॉलोनी तक पहुंच गया है। सभी क्षेत्र को कन्टेनमेंट क्षेत्र घोषित कर दिया गया है। साथ ही मरीजों के सम्पर्क में आये लोगों को क्वारंटाइन(quarantine) किया गया है। वहीँ जिले में अबतक कुल 4507 मरीज हो चुके हैं। जबकि शहर में कोरोना से मरने वालों की संख्‍या अब 211 हो चुकी है। राहत की बात ये है की बुधवार को 54 लोग स्वस्थ होकर लौट चुके हैं। जिसके बाद जिले में अबतक 3344 लोग स्वस्थ हो चुके है। इंदौर में कोरोना के 952 एक्टिव केस हैं।

बता दें कि इससे पहले इंदौर जिले में सोमवार को 1087 सैंपल जांच के लिए भेजे गए थे जिसमें से 54 की रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। वही 2 लोगों की मौत हो गई थी। जिसमें शहर के जाने माने फिजियोथेरेपिस्ट डॉक्टर भावेश टोपीवाला (Dr Bhavesh Topiwala) भी शामिल थी। वह 40 साल के थे और कोरोना के खिलाफ जंग में लगातार सक्रिय थे।बताया जा रहा है कि टोपीवाला की 18 जून को तबीयत खराब हुई। उन्हें सीने में दर्द और सांस लेने में तकलीफ हुई। पत्नी पहले उन्हें निजी अस्पताल ले गईं, लेकिन डॉक्टर्स ने संक्रमण की आशंका में दूसरे अस्पताल जाने को बोल दिया।