बड़ी राहत : मध्यप्रदेश में कोरोना केस में आई कमी, रिकवरी रेट 88 फीसदी

madhya pradesh corona

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में कोरोना महामारी (Corona Epidemic) धीरे-धीरे काबू में आ रही है, हालात सुधर रहे हैं, यहां मरीजों की संख्या में जहां गिरावट आ रही है, वहीं रिकवरी दर भी 88 प्रतिशत को पार कर गई है। आम जिंदगी अब धीरे-धीरे पटरी पर लौट रही है और बाजारों में चहल पहल बढ़ गई है।

राज्य में कुल मरीजों की संख्या लगभग डेढ़ लाख के करीब पहुंच रही है, वहीं अब तक 2,671 मरीजों की मौत हो चुकी है। इसके अलावा बीते तीन सप्ताह में प्रदेश में कोरोना के नए प्रकरणों में 37 प्रतिशत की कमी आई है। प्रदेश की रिकवरी रेट 88.4 प्रतिशत हो गई है और बड़ी संख्या में मरीज रोज स्वस्थ हो रहे हैं। एक्टिव मरीजों की संख्या जो 20 हजार से ऊपर पहुंच गई थी, अब घटकर 14 हजार 932 रह गई है। मृत्यु दर अब 1.78 प्रतिशत रह गई है।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Chief Minister Shivraj Singh Chauhan) ने प्रदेश में उपलब्ध स्वास्थ्य सुविधाओं को लेकर कहा कि सभी जिलों में कोरोना अस्पतालों में पर्याप्त संख्या में बेड्स उपलब्ध हैं और ऑक्सीजन की भी पर्याप्त उपलब्धता है। मुख्यमंत्री चौहान ने आने वाले समय में और सतर्क रहने पर जोर देते हुए कहा कि त्योहारों पर विशेष सावधानी बरतने तथा सर्दी के मौसम के लिए सभी जिलों में कोरोना संबंधी पूरी तैयारी रखनी होगी।

राज्य मे जहां कोरोना के मरीजों की संख्या में कमी आ रही है, वहीं इंदौर एवं भोपाल जिलों में कोरोना के सर्वाधिक नए प्रकरण सामने आ रहे हैं। बीते 24 घंटों मे इंदौर में कोरोना के 418 नए प्रकरण आए हैं, वहीं भोपाल में 191 नए प्रकरण आए हैं। कोरोना मरीजों को होम आईसोलेशन की भी सुविधा दी जा रही है। स्वास्थ्य के अपर मुख्म सचिव मोहम्मद सुलेमान ने बताया कि प्रदेश में कोरोना के कुल मरीजों में 55 प्रतिशत मरीज होम आइसोलेशन में हैं, वहीं 45 प्रतिशत मरीज अस्पतालों में भर्ती हैं। होम आइसोलेशन में रह रहे मरीजों की हर जिले में स्थापित कंट्रोल एंड कमांड सेंटर के माध्यम से निरंतर मॉनिटरिंग की जा रही है।

राज्य सरकार (State government) ने संक्रमण को रोकने के लिए कई एहतियाती कदम भी उठाए है। इस क्रम में पहली से आठवीं तक के विद्यालयों को 15 नवंबर तक बंद रखने का फैसला भी लिया है। वहीं नवमीं से 12वीं तक के विद्यालय आंशिक रुप से खुल रहे है। एक तरफ जहां मरीजों की संख्या में गिरावट आई है, वहीं बाजारों में फिर रौनक लौट चली है, आवाजाही बढ़ी है। दुकानों पर खरीदारों की आमद में भी इजाफा हो रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here