इंदौर में फिर कोरोना विस्फोट, मिलें 189 पॉजिटिव

महिला बाल विकास विभाग

इंदौर, आकाश धोलपुरे

या तो इंदौर में लोगो को अब लग रहा है कि उन्हें कोरोना छू भी नही सकता है या फिर कुछ लोगो को लग रहा है कि कोरोना जैसा अजाब इंदौर तो क्या इस पूरी दुनिया मे नही बचा है। दरअसल, ये बाते इसलिए सामने आ रही है क्योंकि एक अनुमान के मुताबिक इंदौर में अभी तक 70 से 80 प्रतिशत लोग कोरोना वायरस के प्रति अवेयर (जागरूक) है लेकिन अभी भी बड़ी संख्या में ऐसे लोग भी जो कोविड नियमो और दिशा निर्देशों को दरकिनार करते हुए बेफिक्र होकर जिंदगी को जी रहे है जबकि वायरस का खतरा उफान पर है। ये ही वजह है कि अब इंदौर में हर रोज 100 से अधिक संक्रमित सामने आ रहे है।

बुधवार रात को इंदौर में जारी किए गए मेडिकल बुलेटिन ने तो एक बार फिर ये बता दिया है कि सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क न पहनने का खामियाजा इंदौर के कई ऐसे लोगो को भी भुगतना पड़ रहा है जो सभी दिशा निर्देशों का पालन करते है। दरअसल, इंदौर में बुधवार को 189 नए कोविड पॉजिटिव सामने है जिसके बाद इंदौर में एक्टिव केस 3070 तक पहुंच गए जिसका मतलब है कि 3 हजार से अधिक कोरोना मरीजो इलाज इंदौर के अस्पतालों में जारी है। वही दूसरी और इंदौर में अब तक कुल कोरोना मरीजो की संख्या 10559 तक जा पहुंची है जो कि एक चिंताजनक आंकड़ा है। प्रदेश में इंदौर ही वो शहर है जहां शुरुआत में तो हालात सामान्य थे लेकिन जुलाई व अगस्त माह में बड़ी मरीजो की संख्या ने प्रदेश सरकार को भी सोचने पर मजबूर कर दिया है कि अनलॉक इंदौर में ऐसा क्या किया जाये कि संक्रमण का फैलाव रोका जा सके।

बुधवार को 189 संक्रमित मरीज सामने आने के साथ ही 3 लोगो की मौत भी कोरोना के कारण हो चुकी है जिसके बाद इंदौर में अब तक कोरोना से जान गंवाने वालो की संख्या 349 तक जा पहुंची है। हालांकि इंदौर के लिये राहत की बात ये है कि यहां रिकवरी रेट सुधार देखा जा रहा है। बुधवार को 68 मरीजो को डिस्चार्ज किया गया है वही मिलान के बाद ये आंकड़ा 325 बताया जा रहा है। इंदौर में अब तक कुल 7140 लोग कोरोना से लड़कर जंग जीत चुके है। जिसके बाद इंदौर में रिकवरी रेट 70 प्रतिशत के लगभग पहुंच गया है।

इधर, सीरो सर्वे के जरिये अब तक इंदौर में 6109 सैम्पल एकत्र किये जा चुके है। फिलहाल, इंदौर कोविड की रडार पर है ऐसे में हम आपसे अपील करते है मास्क पहनकर घर से बाहर निकले और लोगो से बात करते समय मास्क न उतारे और सोशल डिस्टेंसिंग के नियमो का पालन करने के साथ ही हाथों को साबुन से धोये और सेनेटाइजर का इस्तेमाल भी करे क्योंकि कोरोना से बचाव के माध्यम ही कोरोना से जंग लड़ने में कारगर साबित होते है।

इंदौर में फिर कोरोना विस्फोट, मिलें 189 पॉजिटिव