कोरोना: मरीजों की देखभाल में लगे अधिकारी की तबियत बिगड़ी, कहा – कुछ हुआ तो सम्पत्ति-शरीर सरकार को दान

शिवपुरी।

मध्यप्रदेश के शिवपुरी जिले में कोरोना पीड़ित मरीजों की देखभाल में लगे जिला सर्विलेंस अधिकारी लालजू शाक्य अब कोरोना वायरस की चपेट में आ गए हैं। जिसके बाद हालत बिगड़ने पर उन्होंने खुद को होम क्वॉरेंटाइन किया है। साथियों को बुखार, जुखाम जैसे कोरोना लक्षण के बाद क्वॉरेंटाइन किया गया है। माना जा रहा है कि सर्विलेंस अधिकारी जिले के पहले बॉर्डर लाइन कोरोना पॉजिटिव के संपर्क में आने से इससे ग्रसित हो गए हैं। हालांकि अभी तक उनकी जांच नहीं की गई है और ना ही उनके सैंपल लिए गए हैं। होम क्वॉरेंटाइन हुए अधिकारी ने अपने मजबूत जज्बे के साथ अपनी सारी संपत्ति और शरीर सरकार को दान की है।

अपने संदेश में उन्होंने कहा है कि यदि उनकी जांच में यह संक्रमण पॉजिटिव आता है और उन्हें इस संक्रमण की वजह से कुछ हो जाता है तो उनकी सारी संपत्ति और शरीर सरकार की हो जाएगी। सर्विलेंस अधिकारी शाक्य ने कहा है कि फिलहाल वह खुद दवा ले रहे हैं और खुद को होम क्वॉरेंटाइन किए हुए हैं। शिवपुरी जिले में जांच की व्यवस्था नहीं होने की वजह से फिलहाल उनकी जांच नहीं हो सकी है। उन्होंने बताया कि 2 दिन पहले जब उनकी हालत बिगड़ी तो वह अस्पताल गए जहां यह शिकायत पाई गई।

गौरतलब हो कि इससे पहले प्रदेश में कोरोना से संक्रमित व्यक्तियों की संख्या 27 हो चुकी है और वही 2 लोगों के इस संक्रमण की चपेट में आने से मौत हो गई हैं।