Corona Updates: कोरोना को लेकर बड़ी खबर, आ सकती है आपके काम, जरूर पढ़ें..

जबलपुर, संदीप कुमार।  कोरोना वायरस संक्रमण से बचने के लिए अब जिंदगी में मास्क लगाना आम लोगो के लिए अनिवार्य हो गया है बहुत से लोग ऐसे भी है जो कि दिन भर मास्क लगाकर घूमते है या फिर ऐसे लोग भी है जो कि एक साथ दो-दो मास्क लगा रखते है।अब हम आपको बताते है की ज्यादातर समय मास्क लगाने के क्या फायदे और क्या नुकसान है।लंबे समय तक मास्क लगाकर रखने से आपके शरीर मे न सिर्फ ऑक्सीजन की कमी हो सकती है बल्कि त्वचा में इंफेक्शन भी हो सकता है मास्क के इस्तेमाल से पहले हमें यह जान लेना चाहिए कि कौन से मास्क का किस तरह का उपयोग करना है। ताकि यह आपके लिए फायदेमंद साबित हो ना कि नुकसानदायक।

कुछ समय पहले तक मास्क का इस्तेमाल हेल्थ केयर वर्कर्स के लिए जरूरी था पर कोरोना वायरस ने मास्क का चलन ऐसा किया कि हर व्यक्ति आज कपड़े का मास्क लगाकर घूम रहा है।डॉक्टरों के मुताबिक मास्क का उपयोग लंबे समय तक न करे। खासकर दौड़ते समय, तेजी से वॉक या फिर एक्सरसाइज करते समय।इसके अलावा,बाकी समय भी मास्क का इस्तेमाल करते वक्त भी उसे जरूरत से ज्यादा टाइट न करें। घर पर बने मास्क ज्यादा बेहतर हैं, क्योंकि इनके साथ सांस लेने में तकलीफ नहीं होती।मास्क नाक, मुंह को ढंकने वाला डबल क्लॉथ को हो तो भी पर्याप्त है। अगर आप कपड़े का मास्क इस्तेमाल कर रहे हैं तो उसे धोकर धूप में सुखा लें, क्योंकि ऐसा नहीं करने से थोड़ी खुजली की समस्या भी आ सकती है।

मास्क पहनते समय हृदय रोगी रहें अलर्ट

हेल्थ एक्सपर्ट के अनुसार कोरोना काल मे भी हर समय मास्क पहनने की जरूरत नहीं है।केवल आप जब भीड़भाड़ वाले इलाके में जाते है बहुत लोगो से मिलते है तब ही मास्क पहनना अतिआवश्यक होता है।डॉक्टर के मुताबिक सर्जिकल मास्क या फिर घर पर कपड़े से बने मास्क का इस्तेमाल अगर आप कर रहे है तो अच्छा होगा। जो हृदय रोगी हैं वह खासकर लंबे समय तक मास्क पहनकर न रखें और न ही पार्क में सैर करने जाते समय ज्यादा देर तक मास्क पहनें। इससे हार्ट पर बेहद असर पड़ता है। हो सके तो ज्यादा से ज्यादा समय घर में ही रहें।

मास्क पहनने से ऑक्सीजन की हो सकती है कमी

डॉक्टर बताते है कि जब मास्क पहना जाता है तो सांस लेने और छोड़ने का प्रोसेस चलता रहता है। ऐसे में जो सांस छोड़ते हैं, उसमें कार्बन डाइऑक्साइड होता है और वह काफी देर तक मास्क में रहता है। इससे ऑक्सिजन का प्रवाह कम होता रहता है। कार्बन डाइऑक्साइड की मात्रा बढ़ती जाती है और सांस लेते वक्त ऑक्सिजन के साथ काबर्न डाइऑक्साइड अंदर चली जाती है। इसमें हारपरकेनिया होता है इस लिए सिरदर्द, कान बजना, बेहोशी छाना या फिर चक्कर जैसी समस्या आ सकती है। इसलिए मास्क को लूज रखें, साथ ही जहां संक्रमण का खतरा न हो वहां मास्क न ही पहनें तो अच्छा होगा…..

मास्क न पहनने वालो पर होती है पुलिस की नजर

चिकित्सक भी बताते है कि हर वक्त मास्क पहनने से सांस,दमा की बीमारी बढ़ सकती है पर शायद मध्यप्रदेश पुलिस चिकित्सक की सलाह को मानने को तैयार नही है यही कारण है कि अपने मूल कामो को छोड़कर मध्यप्रदेश पुलिस इन दिनों मास्क न पहनने वालो के खिलाफ कार्यवाही के लिए घंटो सड़को पर खड़ी रहती है।डॉक्टर जहाँ कहते है कि आप हर समय मास्क न लगाएं तो अच्छा होगा वही दूसरी तरफ मध्यप्रदेश की पुलिस मास्क न पहनने वालो के खिलाफ कार्यवाही करने से बिल्कुल भी नही चूकती है।

ज्यादा देर तक मुंह पर मास्क लगाए रखने से क्या होते है नुकसान

* अधिक समय तक लगातार मास्क पहनने से लोग हाइपरकेपनिया का शिकार हो सकते है।हर समय मास्क लगाए रखना आपके शरीर को नुकसान पहुंचा सकता है…….

* मुंह पर ज्यादा देर तक मास्क पहने रहने से लोगों में अब तरह-तरह की स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं सामने आ रही हैं। ज्यादा देर तक मास्क पहनने से लोगों को सांस लेने में दिक्कत, चक्कर आना, घबराहट होनी, सिर में दर्द जैसी तमाम समस्याएं सामने आ रही हैं।
* हमेशा मुंह पर मास्क न लगाएं रखे, थोड़ी देर खुले में भी सांस लें….

* कोरोना की इस महामारी को देखते हुए मुंह पर मास्क पहनना अनिवार्य किया गया है और यह बेहद जरूरी है। लेकिन लोगों को भी यह ध्यान रखना चाहिए कि जब वह घर के अंदर हैं, तो अपने मुंह पर मास्क न लगाएं।

* सार्वजनिक स्‍थानों पर जा रहे हैं, तो मास्‍क हर हाल में पहनें, लेकिन ध्यान रखना चाहिए कि अगर लगातार एक घंटे से अधिक देर तक मुंह पर मास्क न लगाएं। थोड़ी देर के लिए यानी 15 से 20 मिनट मुंह से मास्क हटाकर अकेले में खुले में सांस लें। इससे सांस लेने में दिक्कत, चक्कर आना, घबराहट होनी, सिर में दर्द जैसी समस्याएं नहीं होंगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here