Coronavirus : BJP नेता और जिला उपाध्यक्ष विष्णु त्रिपाठी का निधन, पार्टी में शोक लहर

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश (Madhyapradesh) में कोरोना संक्रमितों (Corona infected) का आंकड़ा 71000 के पार हो गया है और पिछले चौबीस घंटे में 1636 नए संक्रमित मरीजों की पहचान हुई है। वही 30 और संक्रमितों की मौत के बाद मृतकों का कुल आंकड़ा बढ़कर 1500 के पार पहुंच गया है।इसी बीच एक खबर मिल रही है कि एक और भाजपा नेता विष्णु त्रिपाठी (BJP leader Vishnu Tripathi) कोरोना से जिंदगी की जंग हार गए है, उनका अस्पताल में इलाज के दौरा निधन हो गया है। त्रिपाठी के निधन की खबर लगते ही भाजपा में शोक लहर दौड़ गई है।

मिली जानकारी के अनुसार, शनिवार को रतलाम (Ratlam) के जिला उपाध्यक्ष और बीजेपी के कद्दावर नेता विष्णु त्रिपाठी की कोरोना संक्रमण की वजह से मौत हो गई। विष्णु त्रिपाठी का इलाज इंदौर के अस्पताल में चल रहा था। बीते दिनों भाजपा नेता को कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद इंदौर (Indore) ले जाया गया था। वहां उनका इलाज चल रहा था, जहां शनिवार को उनकी अचानक तबियत बिगडने लगी और कुछ देर बाद उनका निधन हो गया। चुंकी वे कोरोना पॉजिटिव थे, इसके लिए उनका अंतिम संस्कार कोविड प्रोटोकाल के तहत किया जाएगा। वह पार्टी के विभिन्न पदों पर रह चुके हैं।कोरोना के कारण मालवा में यह बीजेपी के तीसरे नेता की मौत है।

बता दे कि इससे पहले शनिवार को खबर आई थी कि रायसेन जिले (Raisen District) में सागर के बीजेपी नेता तेज सिंह राजपूत (BJP leader Tej Singh Rajput) की सड़क हादसे में मौत हो गई। शुक्रवार देर रात बीजेपी नेता की स्कार्पियो गाड़ी अनियंत्रित होकर पलट गई थी, जिसमें उनकी मौत हो गई । राजपूत के निधन से बीजेपी में शोक लहर है और बीजेपी के कई बड़े नेताओं ने निधन पर दुख जताया है।ऐसे में चौबीस घंटे में दूसरे नेता के निधन से भाजपा को बड़ा झटका लगा है।

  • विष्णु त्रिपाठी का राजनैतिक सफर-
  • विष्णु त्रिपाठी ने 1975 में विद्यार्थी मोर्चा में अपने राजनीतिक जीवन की शुरुआत पूर्व गृह मंत्री हिम्मत कोठारी के साथ प्रारंभ की थी।
  • इसके बाद 1981 से 1990 तक भारतीय जनता युवा मोर्चा के जिला उपाध्यक्ष व जिला मंत्री, वर्ष 1990 से 1997 तक भारतीय जनता युवा मोर्चा के नगर अध्यक्ष रहते काम किया।
  • 1999 से 2004 तक वार्ड 47 के पार्षद व निगम अध्यक्ष रहे। वर्ष 2011 से 2013 रतलाम विकास प्राधिकरण के प्रथम अध्यक्ष के रूप में काम किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here