Coronavirus: इंदौर में दोबारा हो सकता है टोटल लॉक डाउन, सोमवार को फैसला

इंदौर। आकाश धोलपुरे।

प्रदेश के इंदौर को एक बार फिर लॉक डाउन करना ना सिर्फ सरकार की बल्कि प्रशासन की भी मजबूरी हो गया है। दरअसल, जब से इंदौर अनलॉक्ड हुआ तब ही से बड़ी संख्या में इंदौरवासियों ने सतर्कता बरतने के बजाय कोरोना मुक्त अंदाज में जीना शुरू कर दिया था और इसी का परिणाम है पॉजिटिव केस के मामले में इंदौर ने 5 हजार के आंकड़े को पार कर दिया। प्रशासन की तमाम हिदायतो को नजरअंदाज करने की वजह से बीते 3 दिनों में ही अकेले इंदौर में 200 से ज्यादा संक्रमण के मामले सामने आए है। ऐसे में पहले साप्ताहिक लॉक डाउन के दिन इंदौर रेसीडेंसी में सांसद शंकर लालवानी ने इंदौर कलेक्टर मनीष सिंह और वरिष्ठ अधिकारियो, डॉक्टर्स के साथ आपात बैठक ली जिसमे कोरोना के फैलाव को रोकने के संबंध में मंथन किया गया। सुबह 10 बजकर 30 मिनिट के बाद शुरू हुई बैठक में कोरोना के बढ़ते केस एवं आगामी रणनीति पर चर्चा भी की गई। कोरोना को लेकर प्रशासन व सांसद की बैठक के बाद निर्णय लिया गया क्राइसेस मैनेजमेंट ग्रुप की कल बैठक होगी जिसके बाद दोबारा लॉकडाउन के संबंध में बड़ा फैसला लिया जा सकता है। इंदौर सांसद शंकर लालवानी ने बताया कि इंदौर में बीते कुछ दिनों पॉजिटिव केसेस में बढ़ोतरी हुई है और आने वाले 10 दिनों में स्थितियां न बिगड़े इसके लिए इंदौर को फिर से लॉक डाउन करना पड़ सकता है। उन्होंने बताया कि कल क्राइसेस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक के बाद लॉक डाउन का निर्णय लिया जा सकता है। उन्होंने सम्भावना जताई कि लॉक डाउन 3 से 4 दिन या फिर 7 दिनों का हो सकता है। इधर, इंदौर कलेक्टर मनीष सिंह ने बताया कि शहर में किल कोरोना अभियान के तहत जो जांच की जा रही है उसके बाद कोविड संक्रमण के मामले बढ़कर सामने आए है ऐसे में क्राइसेस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक के बाद आने वाले समय के लिए निर्णय लिया जाएगा। ख़बर के जरिये हम आपको ये बता दे कि यदि आने वाले समय मे लॉक डाउन होता भी है तब भी कोई भी पैनिक न हो क्योंकि कोरोना वायरस से लड़ने के लिए न सिर्फ सरकार और प्रशासन बल्कि आम लोगो को भी जिम्मेदारी लेनी होगी और शहरवासियों की जिम्मेदारी ये है कि वो उन सभी नियमो व आदेशों का पालन करे जो संकट की घड़ी में प्रशासन द्वारा जारी किए जाते है। फिलहाल, इंदौर में लॉक डाउन दोबारा होगा या नही या फिर प्रशासन कुछ प्रतिबन्ध के साथ अनलॉक्ड जारी रखेगा ये अभी भी सवाल है और कल एक बड़ा निर्णय क्राइसेस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक के बाद सामने आ सकता है।

इंदौर सांसद की शहरवासियों से अपील

इंदौर की स्थितियों को देखते हुए सीमित अवधि के लॉकडाउन की संभावना बन सकती है लेकिन इस बारे में अंतिम निर्णय आपदा प्रबंधन समूह की बैठक के बाद ही लिया जाएगा।

मेरा आप सभी से अनुरोध है कि किराना, सब्ज़ी, दूध आदि के लिए भीड़ ना लगाएं। इससे संक्रमण का खतरा बढ़ सकता है।

शंकर लालवानी, सांसद, इंदौर