DSP की फर्जी ID बनाकर हजारों की ठगी, साइबर सेल को सौंपी जांच, अपील- झांसे में न आए लोग

बैतुल, वाजिद खान। साइबर क्राइम का शिकार अब खुद पुलिस वाले ही होने लगे है। मध्य प्रदेश के बैतूल में एक नए नवेले डीएसपी के नाम से फेंक फेसबुक आईडी बनाकर लोगो से रुपये उगाहने का  मामला सामने आया है। डीएसपी संतोष पटेल की फेंक आईडी बनाकर यहां डीएसपी के एक परिचित से 15 हजार रुपये भी ऐंठ लिए गए। मामला सामने आने के बाद पुलिस ने जांच शुरू की है।

दरअसल बैतूल में पन्ना निवासी डीएसपी संतोष पटेल महिला सेल में तैनात है। प्रोबेशन खत्म होने के बाद उन्हें यही पोस्टिंग दे दी गयी है। कल उन्हें उनके सीनियर अधिकारी ने फोन कॉल कर बताया कि उनकी फेक फेसबुक आईडी बना ली गयी है। जिससे मैसेज और काल कर परिचितों से रुपये की जरूरत बताकर रुपयों की मांग की जा रही है। संतोष पटेल ने जब अपनी आईडी चेक की तो उनके एकाउंट से मिलता जुलता नया एकाउंट बनाया गया था।जिसमे प्रोफ़ाइल फोटो से लेकर अन्य जानकारी हूबहू डालकर नया एकाउंट बना लिया गया था।  इसी बीच डीएसपी को उनके गांव से काल आयी कि अतिथि शिक्षक सत्येंद्र ने उस फर्जी आईडी के चक्कर मे फंसकर 15 हजार की रकम फेक काल मे बताये गए एकाउण्ट में डाल दी है। यह एकाउंट आईसीआईसीआई बैंक में संचालित होना बताया जा रहा है। डीएसपी ने अब पूरे मामले को साइबर क्राइम में देकर जांच शुरू करवा दी है। बताया जा रहा है कि फेक आईडी और एकाउंट उत्तरप्रदेश से संचालित किया जा रहा है। डीएसपी ने लोगो से इस झांसे में न आने की अपील की है।

संतोष पटेल (डीएसपी बैतूल)( संतोष पटेल का कहना है कि मेरे सहयोगी डीएसपी ने मुझे बताया कि किसी ने मेरे नाम से फर्जी फेसबुक आईडी बना लिया है मैंने सर्च किया तो मेरी प्रोफाइल जैसी प्रोफाइल बनाकर फर्जी फेसबुक आईडी बनाकर मेरे परिचितों से रुपए मांगने के लिए मैसेंजर पर मैसेज किए गए इस दौरान मेरे गांव के एक अतिथि शिक्षक जो मेरे परिचित हैं उन्हें भी मैसेज किया गया था और उन्होंने पंद्रह हजार रुपये एकाउंट में ट्रांसफर कर दिया मुझे तब पता चला जब उन्होंने मुझे फोन किया और पूछा कि पैसे मिल गए तब मैंने बैंक एकाउंट चेक कराया गया जिस एकाउंट में पैसे ट्रांसफर हुए थे उससे पैसे भी निकाल लिए मामले की जांच साइबर सेल को दी गई है

DSP की फर्जी ID बनाकर हजारों की ठगी, साइबर सेल को सौंपी जांच, अपील- झांसे में न आए लोग