Cyber Crime के बढ़ते ग्राफ को देखते हुए अलर्ट पर साइबर क्राइम ब्रांच, जारी की एडवाइजरी

जारी की गई एडवाइजरी (Advisory) में लोगों से कहा गया कि जिस व्यक्ति को नहीं जानते हो तो उसे फेसबुक (Facebook) पर दोस्त ना बनाएं। किसी के साथ भी किसी तरह के दस्तावेज  या फोटो शेयर ना करें। वहीं सोशल मीडिया पर किसी भी अज्ञात लिंक (Unknown Link) पर क्लिक (Click) करने से बचें ।

cyber crime increasing

भोपाल,डेस्क रिपोर्ट। बढ़ते साइबर क्राइम (Cyber Crime) और लोगों के साथ हो रहे ठग की वारदातों को देखते हुए साइबर क्राइम ब्रांच (Cyber Crime Branch) द्वारा एक एडवाइजरी (Advisory) जारी की गई है, जिसमें लोगों को जागरूक करते हुए कहा गया कि सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म (Social media Platform) जैसे कि व्हाट्सएप (Whatsapp) फेसबुक (Facebook) इंस्टाग्राम (Instagram) पर अनजान लोगों (Unknown) से दूरी ही बनाए रखें। अपनी किसी भी तरह की निजी जानकारी (Personal Information) किसी अनजान व्यक्ति से साझा ना करें। साइबर क्राइम ब्रांच (Cyber Crime Branch) की मानें तो सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म आजकल काफी घातक होते जा रहे हैं। कई लोग इन प्लेटफार्म पर जालसाजी का शिकार हो रहे हैं।

हो सकता है सोशल मीडिय़ा अकाउंट हैक

एडवाइजरी में साइबर क्राइम ब्रांच (Cyber Crime Branch) ने लोगों से कुछ बिंदुओं पर ख्याल रखने को कहा है। जारी की गई एडवाइजरी (Advisory) में लोगों से कहा गया कि जिस व्यक्ति को नहीं जानते हो तो उसे फेसबुक (Facebook) पर दोस्त ना बनाएं। किसी के साथ भी किसी तरह के दस्तावेज  या फोटो शेयर ना करें। वहीं सोशल मीडिया पर किसी भी अज्ञात लिंक (Unknown Link) पर क्लिक (Click) करने से बचें । अज्ञात लिंक पर क्लिक करने से आपका सोशल मीडिय़ा अकाउंट हैक (Hack) होने की संभावना बढ़ जाती है।

अश्लील सामग्री साझा करना है कानूनी अपराध

जारी की गई एडवाइजरी में कहा गया कि सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म (Social Media Platform) पर किसी तरह की भी अश्लील सामग्री (Pornographic content) को साझा ना किया जाए क्योंकि यह एक कानूनी अपराध है। जो कोई भी व्हाट्सएप पर ग्रुप बनाते हैं वह किसी भी अनजान व्यक्ति को ऐड ना करें। अगर कोई ऐसे व्हाट्सएप ग्रुप में जुड़ गया है जिसे वह जानता नहीं है तो वह तुरंत उस ग्रुप को छोड़ दें। अनजान व्यक्ति को ग्रुप में जुड़ने से और अनजान व्यक्ति को ग्रुप में जोड़ने से कई बार लोग मुश्किलों में पड़ जाते है।

भरोसेमंद ऑनलाइन शॉपिंग साइट से ही करें शॉपिंग 

वहीं बढ़ते साइबर क्राइम को देखते हुए एएसपी रजत सकलेचा (ASP Rajat Saklecha) ने बताया कि ऑनलाइन शॉपिंग (Online Shopping) करते समय लोगों को इस बात का ख्याल हमेशा रखना चाहिए  कि ‌जिस किसी भी ऑनलाइन शॉपिंग साइट (Online Shopping Site) से आप खरीदारी (Shopping) कर रहे हैं वह भरोसेमंद (Trustworthy) है कि नहीं। ऑनलाइन शॉपिंग के लिए अलर्ट करते हुए एएसपी कहते हैं कि सस्ती व लुभावने ऑफर देख कर कभी ऑनलाइन सामान की खरीदारी ना करें और ऐसे ऑफरों से सावधान रहें। साथ ही अपने बैंक खाते (Bank Account) का पासबुक, एटीएम पिन, ओटीपी किसी से भी शेयर ना करें।