आबकारी विभाग की बड़ी कार्रवाई, 30 लाख रूपए की कच्ची शराब जब्त

जब्त और नष्ट सामग्री की कीमत लगभग तीस लाख रुपए आंकी गई है।

डबरा, सलिल श्रीवास्तव। मुरैना में हुए शराब कांड के बाद सारे प्रदेश में अवैध शराब माफियाओ पर सख्त कार्रवाई की जा रही है। ग्वालियर जिले में भी कच्ची शराब बनाने वालों पर लगातार अभियान चला रहे आबकारी विभाग को रोज सफलता मिल रही है। रविवार को फिर से जिले के भितरवार में आबकारी विभाग ने वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देशन पर कच्ची शराब बनाने वालों पर बड़ी कार्रवाई  करते हुए तीस लाख रुपए की कच्ची शराब और शराब वनाने की सामग्री नष्ट और जब्त की।

टीम को मौके से कुछ कीटनाशक दवाइयों के खाली पैकेट भी मिले। जिससे आशंका जताई जा रही है कि कच्ची शराब बनाने में इसका उपयोग किया जाता होगा। यह पूरी कार्रवाई भितरवार थाना क्षेत्र के ग्राम गोहिंदा में कंजरों के डेरे पर की गई। कार्यवाही की भनक लगते ही आरोपी भाग खड़े हुए। मौके से किसी को भी नही पकड़ा जा सका। फिलहाल इस कार्रवाई में पांच अज्ञात प्रकरण पंजीबृद्ध किये गए।

Read More: जहरीली शराब कांड का मुख्य आरोपी मुकेश किरार गिरफ्तार, 10 हजार रुपए का था इनाम

जिला कलेक्टर कौशलेंद्र विक्रम सिंह के निर्देशानुसार और सहायक आबकारी आयुक्त संदीप शर्मा के मौजूदगी में ग्वालियर और डबरा आबकारी टीम ने पुलिस बल के साथ कंजरो की डेरे पर दबिश दी। रविबार को दिन भर चली कार्रवाई में बड़ी सफलता हाथ लगी। जहाँ जमीन में गड़े हुए कच्ची शराब के भरे हुए ड्रमों को jcb की मदद से बाहर निकाला गया।

आज की कार्यवाही में लगभग 35 हज़ार kg गुड़लहान को मौके पर ही नष्ट किया गया और 5800 लीटर हाथ भट्टी की कच्ची शराब जब्त की। साथ ही शराब बनाने के संसाधन भी मौके से जब्त किये। जब्त और नष्ट सामग्री की कीमत लगभग तीस लाख रुपए आंकी गई है। आबकारी उपनिरीक्षक आमीन खान ने बताया कि अनुभाग में विभाग द्वारा इससे पहले भी कंजरों के डेरो पर कई बड़ी कार्रवाई की जा चुकी है। आगे भी लगातार इस तरह की कार्रवाई की जाएगी और अवैध शराब माफियाओ को जिले में पनपने नही दिया जाएगा।