Damoh: लॉकडाउन के बीच सीमा पर ही किया जा रहा वाहनों को सैनिटाइज

दमोह।गणेश अग्रवाल।

टोटल सील दमोह में जरुरत की चीजें लेकर आ रहे वाहनों और स्टाफ को सड़क पर ही सेनेटाइज किया जा रहा।
एमपी में कोरोना संकट के बढ़ते प्रभाव और लगातर सामने आ रहे मामलों के बाद कई जिलों में एक एक कर पाजेटिव मरीज सामने आ रहे है। तो सूबे के कई शहरों में गनीमत हे की अब तक पाजेटिव मरीज सामने नहीं आये है। उनमे से एक दमोह भी है। पड़ोस के जिलों जबलपुर और सागर में करोना पाजेटिव मरीजों के सामने आने के बाद दमोह को टोटल सील कर दिया गया है। निर्देशों के मुताबिक सिर्फ जरुरी चीजों सामग्री और फल दूध पा परिवहन हो रहा है। लेकिन इन चीजों के परिवहन में लगे वाहन और उनका स्टाफ सेनेटाइज होने के बाद ही दमोह शहर की सीमा में प्रवेश कर पा रहे है।

जिले के तमाम नाकों पर स्वास्थ्य विभाग नगर पालिका और पुलिस महकमे के लोग दिन रात मतलब पूरे चौबीसों घंटे इस काम को अंजाम दे रहे है। बाकायदा पुलिस इन चेक पोस्ट पर वाहनों को रोकती है। उनकी सारी जानकारी अपने रजिस्टर में दर्ज करती है और उसके बाद स्वास्थ्य विभाग का अमला इन ट्रक और उनके ड्रायवर कंडेक्टर को पूरी तरह सेनेटाइज करने के बाद शहर में जाने की अनुमति देते है। बड़े पैमाने पर चल रहे इस काम में लगे लोग भी पूरी सिद्दत से अपने काम को अंजाम दे रहे है और बताते है की दमोह करोना संकट से बचा रहे इसलिए ड्यटी के अलावा भी ये लोग ज्यादा वक़्त यहाँ दे रहे है।