मंत्रालय में कोरोना पॉज़िटिव की मौत से हड़कंप, अधिकारियों-कर्मचारियों का विरोध

भोपाल।

मध्यप्रदेश(madhyapradesh) की राजधानी भोपाल(bhopal) में कोरोना(corona) से स्थिति लगातार बिगड़ती जा रही है।शहर के साथ-साथ मंत्रालय में भी अब कोरोना का संक्रमण बढ़ता जा रहा है। इसी बीच भोपाल में सोमवार को 60 नए केस मिले। इसमें राजभवन(Raj Bhavan) का एक और कर्मचारी कोरोना संक्रमित पाया गया। अब यहां पर कोरोना मरीजों की संख्या 11 हो गई। वहीँ मंत्रालय(Ministry) के एक आउटसोर्स कर्मचारी(outsource employee) की भी मौत हो गई है। जिसके बाद मंत्रालयीन कर्मचारी संघ के अध्यक्ष सुधीर नायक(sudhir nayak) ने अपर मुख्य सचिव से जीएडी के दिए निर्देशों को पालन करने की मांग करते हुए ज्ञापन सौपा है।

दरअसल तेजी से फ़ैल रहे संक्रमण(infection) का एक मुख्य कारण ये है कि सामान्य प्रशासन विभाग ने 50 प्रतिशत कर्मचारियों को कार्यालय बुलाने के निर्देश दिए थे जबकि अब कुल 100 प्रतिशत कर्मचारियों को कार्यालय बुलाया जा रहा है। जिसके बाद मंत्रालयीन कर्मचारी संघ के अध्यक्ष सुधीर नायक सहित अन्य अधिकारियों ने इसपर विरोध दर्ज कराया और अपर मुख्य सचिव से जीएडी के दिए निर्देशों को पालन करने की मांग की है। बता दें कि इससे पहले सतपुड़ा भवन में एक ओएसडी की कोरोना संक्रमण से मौत हो चुकी है। इसके साथ ही एक दर्जन से ज्यादा लोग संक्रमित पाए गए थे। इधर राजभवन में फिर नए मामले चिंता का विषय बने हुए हैं।

इधर सोमवार को कोटरा सुल्तानाबाद में 10, सिंधी कॉलोनी और टीटीनगर इलाके में 6-6 नए पॉजिटिव केस आए। इसके साथ दूसरे जिलों के 7 नए केस भी भोपाल में भर्ती किए गए हैं। वहीं, भोपाल में कंटेनमेंट एरिया भी मरीजों के लगातार पॉजिटिव आने के बाद बढ़ा दिए गए हैं। अब ये संख्या बढ़कर 158 हो गई है। पिछले हफ्ते कंटेनमेंट क्षेत्र की संख्या घटकर 133 हो गई थी। इधर, सोमवार को चिरायु अस्पताल से स्वस्थ होने पर 32 लोगों को डिस्चार्ज कर दिया गया है। 108 एंबुलेंस के कॉल सेंटर में 6 कर्मचारी पॉजिटिव पाए गए हैं। 108 एंबुलेंस का संचालन करने वाली जिगित्सा हेल्थकेयर के मैनेजर दीपेंद्र शर्मा ने बताया कि हमने रविवार को मरीजों की सैंपलिंग कराई थी, अब उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। मरीजों को अस्पताल में भर्ती करा रहे हैं।