उप लोकायुक्त के पीए ने सुसाइड का किया प्रयास, आईएएस पर प्रताड़ना का आरोप

भोपाल , हरप्रीत कौर रीन। लोकायुक्त संगठन के उप लोकायुक्त के पीए ने रस्सी से फांसी लगाकर आत्महत्या करने का प्रयास किया लेकिन उनके साथी कर्मचारियों ने उन्हें बचा लिया। पीए ने इसके लिए महिला आईएएस अधिकारी पर आरोप लगाया है कि उनकी प्रताड़ना के चलते आत्महत्या का विचार बना लिया। फिलहाल पुलिस ने पीए के खिलाफ आत्महत्या का प्रयास करने का मामला दर्ज कर लिया है।

MP News: एक्शन में दिखे CM Shivraj, दोषी एजेंसी को टर्मिनेट करने के निर्देश

उप लोकायुक्त जस्टिस एसके पालों के पीए रामचंद्र मकोड़े लोकायुक्त संगठन मध्य प्रदेश भोपाल में कार्यरत हैं। पिछले 20 वर्षों से वे इस कार्यालय में काम कर रहे हैं। उनका आरोप है कि उन्होंने 4 और 27 नवंबर को आधे दिन की छुट्टी ली थी और इसकी सूचना वरिष्ठ अधिकारियों को दे दी थी। लेकिन लोकायुक्त की सचिव डॉ अरुणा गुप्ता ने कहा कि तुम(मकोड़े) पूरे दिन छुट्टी पर रहे हो और उन्होंने मकोड़े का वेतन काट लिया। हालांकि मकोड़े के अनुसार उन्होने बहुत सफाई दी लेकिन उसके बावजूद उनकी एक न सुनी गई। इसके बाद इसी मामले में मकोड़े को कारण बताओ नोटिस भी दिया गया और मैडम ने मकोड़े को अपने केबिन में बुलाकर निलंबित करने तक की धमकी दी।

पहली बार ससुराल जा रही महिला ट्रेन से गायब, जब हुआ खुलासा तो रह गए सब हैरान !

मकोड़े का यह भी कहना है कि रोज कोई ना कोई गलती बता कर मैडम उनको परेशान कर रही थी जिसके कारण मकोड़े डिप्रेशन में आ गये थे और सुसाइड करने का मन बना लिया। मकोड़े घर से सफेद रंग की रस्सी साथ में लाए थे। लेकिन जैसे ही वह पंखे पर फांसी के लिए लटके उनके पास बैठे कर्मचारी ने मकोड़े को बचा लिया। पुलिस ने इस मामले में रामचंद मकोड़े के खिलाफ आईपीसी की धारा 309 यानी आत्महत्या के प्रयास का मामला दर्ज कर लिया है। मकोड़े की जेब से सुसाइड नोट मिला है जिसे उन्होंने दफ्तर में टाइप किया था। सुसाइड नोट में भी वे सभी बातें लिखी है जो मकोड़े ने महिला अधिकारी को लेकर बताई। इस नोट के आधार पर पुलिस आगे कार्रवाई कर सकती है।