देवास: 4 साल के मासूम समेत 3 स्वास्थ्यकर्मी कोरोना पॉजिटिव, कुल आंकड़ा 114

सिंगरौली कलेक्टर
Corona Virus In Red Background - Microbiology And Virology Concept - 3d Rendering

देवास/बागली।सोमेश उपाध्याय।

वैश्विक महामारी कोरोना वायरस लॉकडाउन में मिली छूट के कारण अब ग्रामीण क्षेत्रो मे भी पैर पसारने लगा है।देवास जिले का अधिकांश ग्रामीण अंचल इस महामारी से मुक्त था, परन्तु कल आई रिपोर्ट में जिले के कन्नौद में 3 स्वास्थ्यकर्मी भी संक्रमित पाए गए,उसके बाद से पूरे अंचल में दशहत का माहौल व्याप्त है!वही आज की रिपोर्ट में 4 नए प्रकरण देवास शहर में ही सामने आए है जिसमे लक्ष्मी बाई मार्ग निवासी 4 वर्षीय बालक भी शामिल है।अब तक पॉजिटिव मिले मरीजों में से नो की मौत हो चुकी है जबकि 73 ठीक होकर घर जा चुके हैं। 32 मरीज अब भी अस्पताल में इलाज ले रहे हैं। एक्टिव मरीज़ो का अस्पताल में इलाज चल रहा हैं। डॉक्टरों के मुताबिक भर्ती पॉजिटिव मरीजों की हालत में सुधार हो रहा है और आने वाले कुछ दिनों में कुछ मरीजों की छुट्टी हो सकती है। 2 मरीज ऐसे हैं जिनके दूसरे सैंपल की रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई है, लेकिन उनकी हालत पहले से काफी ठीक है। अब इनका तीसरा सैंपल भेजा जाएगा और रिपोर्ट निगेटिव मिलने पर छुट्टी दे दी जाएगी।हालांकि अभी 71 मरीज़ो की जाँच रिपोर्ट आना शेष है।

आने वाले समय में पॉजिटिव मरीजों की संख्या बढ़ने का खतरा

नए मरीजों की संख्या बढ़ने के बाद डॉक्टर फिर चेतावनी दे रहे हैं कि यदि लॉकडाउन का पालन नहीं किया गया तो आने वाले दिनों में मरीजों की संख्या बढ़ना तय है। इसका कारण यह है कि इन दिनों जो सैंपल भेजे जा रहे हैं वो संक्रमित हो चुके मरीजों के परिजनों, घर वालों और संपर्क में आने वाले लोगों के सैंपल हैं। इनमें संक्रमण की आशंका ज्यादा है क्योंकि ये मरीजों की कांटेक्ट हिस्ट्री में शामिल हैं। यही नहीं कोरोना के कई मामले ऐसे हैं जो एक ही परिवार के हैं। यानी पूरे परिवार ही इसकी चपेट में आ चुके हैं।