कोरोना के कारण पति हनीमून पर नहीं ले गया, पत्नी रूठकर पहुंच गई मायके

पति ने माना कि वह पत्नी को महीने में दो से तीन बार बाहर घुमाने ले जाएगा। उसके मायके में कोई त्योहार, दुख या परेशानी होगी तो वह साथ लेकर जाएगा। पति-पत्नी के बीच समझौता हुआ कि दोनों आपस में लड़ेंगे नहीं और ना ही एक-दूसरे का अनादर करेंगे।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट| कोरोना महामारी (Corona Virus) के कारण जहां लोग तमाम पाबंदियों के बीच भी नए रिश्ते जोड़ रहे हैं, वहीं कोरोना नामक इस मुसीबत ने कुछ रिश्तों को टूटने की कगार पर भी पहुंचा दिया है| जिला विधिक सेवा प्राधिकरण में पति पत्नी (Husband-Wife) के बीच विवाद का एक ऐसा ही मामला पहुंचा| जहां कोरोना के डर से पति पत्नी को हनीमून (Honeymoon) पर नहीं ले गया, तो पत्नी नाराज होकर मायके चली गई| नौबत दोनों के अलग होने तक पहुँच गई|

दरअसल, शादी के बाद पत्नी पति से नाराज होकर मायके चली गई| इसके पीछे जो कारण था, वो यह कि पति अपनी पत्नी को कहीं घुमाने ही नहीं ले गया| जिला विधिक सेवा प्राधिकरण में कोलार निवासी एक युवक ने शिकायत की थी कि उसकी शादी 25 जून 2020 में हुई है। शादी के दस दिन बाद पत्नी हनीमून पर नहीं ले जाने के कारण रूठकर मायके चली गई। युवक का कहना था कि वो पत्नी को वापस लाना चाहता है, लेकिन उसके मायके वाले आने नहीं दे रहे और उसकी पत्नी को भड़का रहे हैं, वो लोग मुझे घर जमाई बनाना चाहते हैं| मामला जिला विधिक सेवा प्राधिकरण में पहुंचा जहां दोनों के बीच समझौता करा दिया गया।

पति ने माना कि वह पत्नी को महीने में दो से तीन बार बाहर घुमाने ले जाएगा। उसके मायके में कोई त्योहार, दुख या परेशानी होगी तो वह साथ लेकर जाएगा। पति-पत्नी के बीच समझौता हुआ कि दोनों आपस में लड़ेंगे नहीं और ना ही एक-दूसरे का अनादर करेंगे। पत्नी घर के सभी काम करेगी। वह नौकरी नहीं करेगी और उसका पूरा खर्च पति उठाएगा। इन बातों के समझौता के बाद 3 जनवरी को पति ससुराल जाएगा और पत्नी को साथ लेकर घर लौटेगा। प्राधिकरण में दोनों के बीच समझौता हुआ।