कमलनाथ पर चुनाव आयोग की कार्रवाई: बीजेपी खुश, कांग्रेस उठा रही सवाल

इमरती देवी को आइटम और मुख्यमंत्री शिवराज के लिए आपत्तिजनक टिप्पणी के मामले में चुनाव आयोग ने कमलनाथ पर बड़ी कार्रवाई की है, कमलनाथ से स्टार प्रचारक का दर्जा वापस ले लिया है

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट| मध्य प्रदेश (Madhyapradesh) की 28 सीटों पर उपचुनाव (Byelection) के लिए 3 नवंबर को होने वाले मतदान (Voting) से पहले कांग्रेस (Congress) को बड़ा झटका लगा| चुनाव आयोग (Election Commission) ने पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ (Kamalnath) से स्टार प्रचारक का दर्जा छीन लिया है। अब वे उपचुनाव में स्टार प्रचारक की हैसियत से प्रचार नहीं कर पाएंगे। चुनाव आयोग के इस फैसले से सियासत गरमा गई है| बीजेपी ने इस फैसले पर ख़ुशी जताई है, वहीं कांग्रेस सवाल खड़े कर रही है|

प्रदेश कांग्रेस के मीडिया प्रभारी (ग्वालियर-चम्बल संभाग) के.के. मिश्रा (KK Mishra) ने ट्वीट कर पूर्व सीएम कमलनाथ के खिलाफ चुनाव आयोग के फैसले पर प्रतिक्रिया दी है| उन्होंने ट्वीट कर लिखा- हम आभारी हैं भारत निर्वाचन आयोग के, जिसने हमारे नेता मान.कमलनाथ जी की नागरिकता नहीं छीनी,चुनाव प्रचार समाप्ति के मात्र 48 घंटों पहले यह “निष्पक्षता” किसे लाभ पहुंचाने के लिए है?अब तो तय है कि चुनाव निष्पक्ष नहीं होंगे|

इधर, बीजेपी प्रवक्ता रजनीश अग्रवाल ने चुनाव आयोग के आदेश पर कांग्रेस द्वारा सवाल उठाये जाने पर ट्वीट कर कहा ECI की आचार संहिता को तोडेंगे। दलित महिला प्रत्याशी का अपमान करेंगे । अधिकारी कर्मचारियों को खुलेआम धमकी देंगे। 10 के बाद 11 आती है कैलेंडर बताएंगे। जब ECI कार्यवाही करेगा तो उसे ही कटघरे में खड़ा कर देंगे। गनीमत है केंद्र में इनकी सरकार नहीं है वरना आपातकाल लगा देते।

वहीं बीजेपी नेता भगवान् दास सबनानी ने चुनाव आयोग के फैसले पर ख़ुशी जताते हुए आयोग को धन्यवाद किया| उन्होंने कहा चुनाव आयोग की यह कार्रवाई एक नजीर बनेगी, चुनाव में भाषणवीर नेताओं पर अंकुश लगेगा|