Exclusive- अब जा रही आँखों की रोशनी, जहरीली शराब में मिला था मेथेनॉल

बताया जा रहा है कि मुरैना में जिस जहरीली शराब को पीने से अबतक 24 लोगों की मौत हो चुकी है उसमें फॉरेंसिक एक्सपर्ट को मेथेनॉल यानि मिठाइल एल्कोहल की मात्रा मिली है। ये खुलासा मृतकों की विसरा रिपोर्ट से हुआ है

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। मुरैना (Morena)में हुए जहरीली शराब (Poisonous Liquor)कांड से उन पीड़ितों पर दुखों का पहाड़ टूट गया है जिनके घर का चिराग बुझ गया या मुखिया शराब माफिया (Wine Mafia) की भेंट चढ़ गया। वहीं जहरीली शराब (Poisonous Liquor)अब पीड़ितों की आंखों की रोशनी छीन रही है। ग्वालियर में भर्ती चार मरीज अपनी आंखों की रोशनी गंवा चुके हैं।

मुरैना जहरीली शराब (Poisonous Liquor)कांड के बाद मारे जा रहे छापों में मिल रही अवैध शराब ने जिला प्रशासन, पुलिस प्रशासन और आबकारी विभाग की सक्रियता और कार्यशैली पर सवाल खड़े कर दिये हैं। घटना के बाद से पूरे प्रदेश में की जा आरही छापामारी में पुलिस और आबकारी विभाग को भारी मात्रा में जहरीली और नकली शराब मिल रही है। मुरैना में तो आलम ये है कि घटना के बाद से खेतों में, खलिहानों में और तालाबों में शराब की पेटियां मिल रहीं हैं।

जहरीली शराब ले रही आंखों की रोशनी

जहरीली शराब (Poisonous Liquor) पीने के बाद 20 पीड़ितों को घटना के तत्काल बाद ग्वालियर के जयारोग्य अस्पताल में भर्ती कराया गया था। जिनमें से 6 पीड़ितों की मौत हो चुकी है जबकि 14 अभी भी जिंदगी और मौत से जूझ रहे हैं। खास बात ये है कि इन 14 में से 4 मरीज ऐसे हैं जिनकी आंखों की रोशनी चली गई है। हालांकि इनका इलाज जारी है लेकिन जयारोग्य अस्पताल (JAH) के अधीक्षक डॉ आरकेएस धाकड़ (Dr RKS Dhakad) ने एमपी ब्रेकिंग न्यूज़ को बताया कि जहरीली शराब  (Poisonous Liquor) के कारण इनकी आंखों की रोशनी परमानेंट ही चली गई है। उन्होंने कहा कि जहरीली शराब (Poisonous Liquor) में मिला मेथेनॉल शरीर के कई अंगों जैसे हार्ट, किडनी, आंख आदि को नुकसान पहुंचाता है।

जहरीली शराब में फॉरेंसिक एक्सपर्ट को मिला है मेथेनॉल

जहरीली शराब (Poisonous Liquor) मिलने के बाद सक्रिय हुई सरकार इसकी हर एंगल से जांच कर रही है। पुलिस और प्रशासनिक जांच के साथ फॉरेंसिक एक्सपर्ट भी जांच कर रहे हैं। बताया जा रहा है कि मुरैना में जिस जहरीली शराब (Poisonous Liquor) को पीने से अबतक 24 लोगों की मौत हो चुकी है उसमें फॉरेंसिक एक्सपर्ट को मेथेनॉल यानि मिठाइल एल्कोहल की मात्रा मिली है। ये खुलासा मृतकों की विसरा रिपोर्ट से हुआ है। चूंकि शराब माफिया (Wine Mafia) अपने मुनाफे के लिए जहरीली शराब बना रहा था इसलिए उसने भारी मात्रा में मेथेनॉल जैसा खटरनाक और शरीर के लिए हानिकारक कैमिकल शराब में मिलाया। और शराब में केमिकल की मात्रा ज्यादा होने से हुई लोगों की मौत हो गई।

बहरहाल, जिनकी मौत हो गई उनके परिजनों को तो जिंदगी भर का दुख शराब माफिया (Wine Mafia) ने दे दिया लेकिन जिनकी आँखों की रोशनी जा रही है उनके लिए भी आगे की जिंदगी किसी बोझ से कम नहीं है।