पुलिसकर्मी बन कर रही थी वसूली, पकड़ा तो थाने में किया हंगामा, गाली-गलौज

1478

ग्वालियर।अतुल सक्सेना।

पुलिस ने तीन ऐसी महिलाओं को गिरफ्तार किया है जो पुलिसकर्मी बनकर लॉक डाउन के बीच ड्यूटी पर निकल रहे थे। जब पुलिस ने इनको पकड़ा तो इन्होंने थाने में हंगामा किया, गाली गलौज कर सिपाही को काट लिया। इनमें से एक ने सड़क पर गाली देते हुए दौड़ लगा दी। लेकिन मशक्कत के बाद पुलिस ने इन्हें पकड़ लिया।

जानकारी के अनुसार लक्ष्मण तलैया निवासी भागीरथ बाथम अपनी ड्यूटी से लौट रहा था वो इंदरगंज थाना क्षेत्र में राम बाग कॉलोनी के गेट पर पहुंचा तभी उस स्कूटर क्रमांक MP 07 SN 3630 पर तीन महिलाएं मिली। उन्होंने भागीरथ को रोका और धमकाते हुए कहा कि लॉक डाउन है बाहर क्यों घूम रहा है। भागीरथ ने बताया कि वो ड्यूटी से लौट रहा है। उसने महिलाओं का परिचय पूछा तो महिलाएं बोली हम सब जानते हैं हम पुलिसकर्मी हैं, तुम जैसों को पकड़ने के लिए ही सिविल ड्रेस में हैं। महिलाएं गाली देते हुए बोली चल थाने चल तू तो जेल जायेगा। इतने में एक महिला बोली मामला निपटाना है तो 500 रुपए सेवा पानी कर दे , भागीरथ ने मना कर दिया तो दो महिलाओं ने उस थप्पड़ मारने शुरू कर दिये इतने में ही वहाँ रहने वाले कुछ लोग निकल आये उन्होंने डायल 100 को फोन कर दिया और पुलिस महिलाओं को पकड़ कर थाने ले आई।

थाने में किया हंगामा, सिपाही को काटा, गाली देते हुए सड़क पर लगाई दौड़

पुलिस जब पकड़ कर महिलाओं को थाने लाई तो सूबेदार प्रभा उनसे पूछताछ करने लगी तो वे अपशब्द कहने लगी पास खड़ी सिपाही ने रोका तो हाथापाई करने लगी और सिपाही रिंकी यादव की उंगली में काट लिया। इनमें से एक ने गालियाँ देते हुए सड़क पर दौड़ लगा दी। उसके बाद दौड़कर मशक्कत के बाद पुलिस ने उस पकड़ लिया । थाना प्रभारी पंकज त्यागी ने बताया कि पकड़ी गई महिलाओं के नाम चांदनी बानो, राखी यादव और सोहना शर्मा है। ये फरियादी भागीरथ बाथम से लॉक डाउन में सड़क पर निकलने के दौरान फर्जी पुलिस बन कर 500 रुपये वसूल रही थी इन्हें गिरफ्तार कर लिया गया है। पुलिस ये पता लगाने की कोशिश कर रही है कि इससे पहले इन्होंने ऐसी कितनी वारदात की है और कितनों को निशाना बनाया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here