नकली रेमडेसिवीर इंजेक्शन मामला, अब सीबीआई जांच के लिए सुप्रीम कोर्ट में याचिका हुई दायर

एक पीड़ित महिला ने सुप्रीम कोर्ट अधिवक्ता विवेक तंखा के माध्यम से याचिका दायर की गई है। जिसमें इंटर स्टेट मामले का हवाला देते हुए सीबीआई जांच की मांग की गई है।

जबलपुर, संदीप कुमार। मप्र (MP) में नकली रेमडेसिवीर इंजेक्शन (Remdesivir Injection) का मामला तूल पकड़ता जा रहा है अब इसमें सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) मामले की सुनवाई करेगा दरअसल एक पीड़ित महिला ने सुप्रीम कोर्ट अधिवक्ता विवेक तंखा के माध्यम से याचिका दायर की गई है। जिसमें इंटर स्टेट मामले का हवाला देते हुए सीबीआई जांच की मांग की गई है।

यह भी पढ़ें…मुरैना : जब्त ट्रैक्टर ट्रॉली को सुपुर्द करने गए वन आरक्षक को हवलदार ने एफआईआर की दी धमकी, वीडियो वायरल

अब वरिष्ठ अधिवक्ता विवेक कृष्ण तन्खा याचिका की पैरवी करेंगे, पीड़ित महिला ने सुप्रीम कोर्ट अधिवक्ता विवेक तन्खा के माध्यम से लगाई याचिका है। जिसमे मध्यप्रदेश में नकली इंजेक्शन मामले की जांच सीबीआई द्वारा करने की बात कही गई है। बतादें कि 1 हफ्ते के अंदर सुप्रीम कोर्ट इस मामले में सुनवाई कर सकता है मामले में पूर्व महाधिवक्ता शशांक शेखर याचिका जिहर करेंगे। बतादें कि बीते कई दिनों से नकली रेमडेसिवीर इंजेक्शन बनाने की मध्य प्रदेश में लगातार कनेक्शन की खबरें सामने आ रही थी, जिनका गुजरात सूरत से कनेक्शन बताया जा रहा है, जहां पर ग्लूकोज और नमक मिलाकर नकली रेमडेसिवीर इंजेक्शन बना कर लोगों की जान के साथ खिलवाड़ किया जा रहा था।

बतादें कि मध्य प्रदेश में गुजरात से 1200 नकली रेमडेसिवीर इंजेक्शन की सप्लाई हुई है। इस मामले में सात लोगों पर केस दर्ज किया गया है। इन सात लोगों की तलाश की जा रही है। मुख्यमंत्री शिवराज ने नकली रेमडेसिवीर इंजेक्शन की सप्लाई करने वालों इन लोगों को गुजरात से गिरफ्तार कर मध्यप्रदेश लाने के निर्देश दिए है।

यह भी पढ़ें…शिवराज के मंत्री ने बताई- पन्ना की रुंझ नदी में शव मिलने के पीछे की पूरी सच्चाई