परिजनों ने अस्पताल प्रबंधन पर लगाया लापरवाही का आरोप, शव लेने से किया मना

खंडवा।सुशील विधानी

सिंधी कॉलोनी के युवक जतिन वाधवा की कल रात खंडवा जिला अस्पताल के सारी वार्ड में मौत हुई। जिसके बाद परिजनों ने जिला अस्पताल प्रबंधन पर लापरवाही का आरोप लगाया है। वहीँ परिजनों ने शव लेने से मना कर दिया है। एसडीएम सीएसपी ने मौके पर पहुंचकर उन्हें समझाइश दी है और साथ ही कार्यवाही का आश्वाशन दिया है।

माने परिजन, लिया शव, कठोर कार्यवाही की मांग

बताया जा रहा है कि 9 तारीख से युवक को भर्ती कराया गया जिसकी रिपोर्ट आज तक नहीं आई है। जिसके चलते युवक बार-बार यह पूछता रह गया कि मुझे पॉजिटिव है या नेगेटिव। आखरी दम तक वह यह पता ना लगाने के कारण माइग्रेन से उसकी मौत हो चुकी है। हॉस्पिटल प्रबंधक किसी प्रकार का जवाब देने से तैयार नहीं है। जिला प्रशासन की लापरवाही के साथ खंडवा में जनता के बीच समाज आक्रोश में हॉस्पिटल पहुंचा है। हॉस्पिटल में एसडीएम संजीव पांडे एवं नगर अधीक्षक ललित गटरे ने समाज जनों से समझाइश देकर भेजा है। और आश्वासन दिया है कि इस पर जांच द्वारा कार्रवाई कराई जाएगी।

खंडवा के सारी (प्रीआईसोलेशन) वार्ड में परसों रात भी हुई थी 3 मौत, अभी तक कुल 21 मौत

इनके द्वारा बताया गया कि मेडिकल कॉलेज खण्डवा के डीन डॉ अनंत पवार टैगोर कॉलोनी खंडवा निवासी 32 वर्षीय मरीज दिनांक 9 मई को दोपहर 4.40 बजे जिला अस्पताल में निमोनिया के लक्षण के साथ भर्ती हुआ। जिसको SARI वार्ड में प्रोटोकॉल अनुसार इलाज किया गया। परन्तु दिनांक 15 मई को उसकी स्थिति अचानक बिगड़ने के पश्चात उसे सारी ICU में दाखिल किया गया तथा प्रयासों उपरांत मरीज की स्थिति में सुधार न होने के कारण वेंटिलेटर पर लिया गया। इस पश्चात दिनांक शनिवार व रविवार की मध्यरात्रि में लगभग 12.30 बजे मरीज की इलाज के दौरान मृत्यु हुई। वहीँ आज खंडवा जिला अस्पताल के कोविड-19 में एक और मौत मृतक दयाराम चंचलानी गली नंबर 3 की नई मौत हुई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here