जबलपुर: किसान ने अस्पताल में तोड़ा दम, पुलिस पर लगा पिटाई का आरोप

जबलपुर।संदीप कुमार

जबलपुर(jabalpur) में एक बार खाकी का कहर टूटा है।गोरा बाजार थाने में पदस्थ कुछ पुलिसकर्मियों ने एक 50 साल के किसान की सिर्फ इसलिए बेदर्दी से पिटाई कर दी क्योकि वह लॉक डाउन(lockdown) के दौरान अपने खेत से वापस घर जा रहा था।इतना ही नही बेदर्दी पुलिसकर्मियों ने पिटाई करने के बाद बुजुर्ग को वही पर घायल अवस्था मे छोड़कर चले गए।

जब बुजुर्ग बंशी लाल(bansilal) घर नही पहुँचे तो परिजन तलाश मे जुट गए। खेत से जब काफी देर तक बंशीलाल वापस नही आए तो परिजन पड़ोसियों के साथ उन्हें तलाश करने खेत जाने लगे। जहाँ रास्ते पर घायल बंशीलाल कराह रहे थे। आनन फानन में घायल बुजुर्ग को घर लाया गया पर शनिवार को जब उनकी हालत ज्यादा खराब हो गई तो इलाज के लिए निजी अस्पताल लाया गया जहाँ आज उनकी मौत हो गई।

परिजनों के मुताबिक खेत मे बंधे जानवरो को बंशी लाल रोजाना ही चारा देने जाते थे।शुक्रवार को भी रात को जब वह जानवरो को खाना खिलाकर वापस लौट रहे थे। तभी पुलिस की सरकारी जीप में 6 से 7 पुलिसकर्मी पहुँचे और उनके साथ लाठी से मारपीट की और घायल अवस्था मे ही उन्हें वही छोड़कर चले गए।

निजी अस्पताल(private hospital) में इलाजरत बंशीलाल की मौत की खबर जैसे ही ग्रामीणों को लगी वैसे ही उनका पुलिस के खिलाफ आक्रोश फूट पड़ा। इधर घटना को लेकर asp डॉ संजीव कुमार का कहना है कि बंशीलाल के मरने से पहले का वीडियो हमे मिला है जिसमे कुछ पुलिसकर्मियों के नाम भी है। प्रथम द्रष्टया लापरवाही मानते हुए उन पुलिसकर्मियों पर कार्यवाही की जा रही है साथ ही कैंट सीएसपी को जांच के लिए निर्देशित किया गया है।