महिला सब-इंस्पेक्टर कोरोना संदिग्ध, थाने के स्टाफ को किया गया क्वॉरेंटाइन

अशोकनगर|

जिले के चंदेरी थाने में पदस्थ एक महिला सब इंस्पेक्टर में कोरोना के संदिग्ध लक्षण पाए गए हैं ।जिसे आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कराकर कोरोना का सैंपल लिया गया है। साथ ही उसके संपर्क में आये चंदेरी थाने के पूरे स्टाफ को 3 दिन के लिए क्वॉरेंटाइन कर दिया गया है ।जिला मुख्यालय से अतिरिक्त पुलिस बल को काम के लिए चंदेरी थाने में भेजा गया है। उल्लेखनीय है यह महिला सब इंस्पेक्टर 21 मार्च को अजमेर शरीफ से लौटी थी ।इसके बाद से ही इसकी तबीयत खराब चल रही थी। महिला सब इंस्पेक्टर की लापरवाही से पूरे थाने को संकट में पड़ने के मामले का खुलासा होने से पुलिस प्रशासन सकते मे है।पूरे थाना परिसर को सेनेटाइज किया गया है।

अशोकनगर पुलिस अधीक्षक रघुवंश भदौरिया ने बताया कि महिला सब इंस्पेक्टर में सर्दी खांसी एवं बुखार के लक्षण पाए गए हैं। इसके कारण इसे अशोकनगर स्थित आइसोलेशन वार्ड में भर्ती करा दिया गया है। एहतियात के तौर पर उसके संपर्क में आए चंदेरी थाने के करीब डेढ़ दर्जन पुलिसकर्मियों को क्वॉरेंटाइन किया गया है।कला रात में इन इन सभी को चंदेरी में बनी बुनकर पार्क में शिप्ट किया गया है ।प्रारंभिक स्थिति में सभी पुलिसकर्मियों का स्वास्थ्य परीक्षण किया गया है ।साथ ही महिला की कोरोना सैंपल लिया गया है ।कोरोना की रिपोर्ट आने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी। बताया जा रहा है कि गुना निवासी यह महिला सब इंस्पेक्टर 21 मार्च को अजमेर से लौटी थी। लौटने के बाद हल्का बुखार था ,इस कारण 5-6 दिन अपने घर पर ही रही।मगर इसके बाद उसने लापरवाही बरती और बिना जांच कराए काम करती रही ।इस दौरान लगातार उसका स्वास्थ्य खराब बनाना। गंभीर लापरवाही के बाद जब कोरोना के लक्षण ज्यादा देखें तो पुलिसकर्मी उसे चंदेरी बीएमओ के पास जांच के लिए ले गये।बीएमओ ने संदिग्ध मानकर इसे अशोकनगर आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कर दिया गया। उल्लेखनीय है कि अशोकनगर जिले में अभी एक भी कोरोना पॉजिटिव मरीज नहीं है।