उपचुनाव बाद आज पहली कैबिनेट बैठक, इन प्रस्तावों को मिल सकती है मंजूरी

सरकार की मंशा गौशालाओं के संवर्धन व संरक्षण करने की है। मुख्यमंत्री ने प्रदेश में 2000 गौशाला खोलने की घोषणा भी की है।

शिवराज सिंह चौहान

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। उपचुनाव (By-election) के बाद पहली बार आज शिवराज कैबिनेट (Shivraj Cabinet) की बैठक होने जा रही है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Chief Minister Shivraj Singh Chauhan) की अध्यक्षता में आज होने वाली मंत्रिमंडल की बैठक में इंदौर ग्वालियर और रीवा के सरकारी प्रेस बंद करने का निर्णय लिया जा सकता है। इसमें 400 से अधिक कर्मचारी बेरोजगार हो सकते हैं। केवल ग्वालियर प्रेस में 180 कर्मचारी हैं। बैठक में ऊर्जा विभाग द्वारा मध्य प्रदेश पावर ट्रांसमिशन कंपनी को 800 करोड़ रुपए के लोन की गारंटी सरकार से लेने की अनुमति के प्रस्ताव को भी मंजूरी दी जा सकती है।

पशुपालन विभाग का नाम पशुपालन व डेयरी विभाग होगा

पशुपालन विभाग का नाम अप पशुपालन व डेयरी विभाग करने के प्रस्ताव पर कैबिनेट की बैठक में मंजूरी मिलेगी। पशुपालन विभाग को सशक्त बनाने के लिए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने गांव कैबिनेट का गठन किया है। सरकार की मंशा गौशालाओं के संवर्धन व संरक्षण करने की है। मुख्यमंत्री ने प्रदेश में 2000 गौशाला खोलने की घोषणा भी की है।

Read More: मंत्रिमंडल विस्तार: सीएम शिवराज के बयान के बाद दावेदारों में खलबली

इन प्रस्तावों पर होगी चर्चा

मुंबई स्थित लोक अतिथि ग्रह भवन निर्माण के लिए पुनरीक्षित प्रशासनिक स्वीकृति मिल सकती है। मध्यप्रदेश मानव अधिकार आयोग के लिए स्वीकृत अस्थाई पदों को एक अप्रैल 2020 से निरंतर किया जाएगा। नेशनल पार्क अभयारण्य और चिड़िया घरों में प्रवेश शुल्क से प्राप्त होने वाली राशि के उपयोग के लिए विकास निधि फंड की स्थापना की जाएगी। मध्य प्रदेश नर्सिंग शिक्षण संस्थान मान्यता नियम में आवश्यक संशोधन किए जाएंगे।

जबलपुर मेडिकल कॉलेज में स्टेट कैंसर इंस्टीट्यूट निर्माण की प्रशासनिक स्वीकृति तथा यहां स्वीकृत 250 पदों में से 20 पदों को स्कूल ऑफ एक्सीलेंस इन पलमोनरी मेडिसिन में स्थानांतरण करने पर चर्चा होगी। जबलपुर में ग्राम गधेरी में राज्य नायिक अकादमी की स्थापना के लिए सैद्धांतिक सहमति पर चर्चा होगी। सीहोर जिले की सितंबर सिंचाई परियोजना को स्वीकृति दी जा सकती है।