स्कूल फीस के विरोध में Collectorate पहुंचे पूर्व ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष, कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन

देवास। अमिताभ शुक्ला

पूर्व ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष संजय कहार ने पालको के साथ कलेक्टर कार्यालय पहुचकर देवास कलेक्टर के नाम सौपा गया। लाकडाउन अवधि में निजी स्कूलों द्वारा फीस लिए जाने और ऑनलाइन क्लासेज के विरोध डिप्टी कलेक्टर के हाथो में कलेक्टर के नाम ज्ञापन सौपा। देवास के कुछ प्रायवेट स्कूलो द्वारा 2021 का सत्र शुरू होने के पहले ही पालको पर फीस देने का दबाव बनाया जा रहा है। शुल्क नही दिए जाने पर बच्चों को स्कूल से निकाले जाने की धमकी भी दी जा रही है।ज्ञापन के माध्यम से माँग की गयी है,कि कलेक्टर सर ऐसे स्कूलो को आदेशित करे और फीस ना लेने का आदेश देवे
बोले जिला शिक्षा अधिकारी – मामले की जाँच की जायेगी। यदि कोई भी स्कूल शासन के नियमो का उल्लंघन करते हुए पाया गया,तो उसके खिलाफ एक्शन लिया जाएगा।

निजी स्कूलों द्वारा लॉकडाउन के समय में चलाई जा रही ऑनलाइन क्लासों का विरोध शुरू हो गया है। देवास में भी ब्लॉक कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष संजय कहार ने पालको के साथ मिलकर ऑनलाइन क्लासेस और लॉकडाउन के दौरान आम लोगों मध्यमवर्गीय परिवारों से ली गई। फीस का विरोध किया गया और कलेक्टर कार्यालय पहुंचकर एक ज्ञापन देवास कलेक्टर के नाम डिप्टी कलेक्टर के हाथो में एक ज्ञापन सौंपा गया।

ब्लॉक कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष संजय कहार ने कहा कि हर माता-पिता के पास एंड्राइड मोबाइल नहीं है और ऑनलाइन क्लासेस का संचालन किया जा रहा है। देवास के कुछ प्रायवेट स्कूलो द्वारा 2021 का सत्र शुरू होने के पहले ही पालको पर फीस देने का दबाव बनाया जा रहा है। शुल्क नही दिए जाने पर बच्चों को स्कूल से निकाले जाने की धमकी भी दी जा रही है। ज्ञापन के माध्यम से माँग की गयी है,कि कलेक्टर सर ऐसे स्कूलो को आदेशित करे और फीस ना लेने का आदेश देवे।
इसी के साथ फीस की मार भी मध्यम वर्ग और निम्न वर्ग के पेरेंट्स पर पड़ रही है , ऐसे समय में प्रशासन को ध्यान देना चाहिए और फीस माफ करवाई जाना चाहिए । साथ ही साथ ऑनलाइन कक्षाएं जो कि हर माता-पिता वह नहीं कर सकता उसे भी बंद किया जाना चाहिए। इसी बात को लेकर संजय कहार ने आज फीस शुल्क के विरोध में और ऑनलाइन क्लासेस के विरोध में हाथों में तख्तियां लेकर अपना विरोध जताया और कलेक्ट्रेट कार्यालय में प्रदर्शन करते हुए ज्ञापन सौंपा ।इस दौरान पूर्व ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष के साथ कई पालकगण भी मौजूद रहे ।

वही मामले को लेकर जब देवास के जिला शिक्षा अधिकारी (DEO) नरेंद्र सिंह धुर्वे से सवाल किया गया तो उनका कहना था,कि मामले की जाँच की जायेगी। यदि कोई भी स्कूल शासन के नियमो का उल्लंघन करते हुए पाया गया,तो उसके खिलाफ एक्शन लिया जाएगा ।जिस तरह से लॉक डाउन में स्कूल बन्द रहे और आम इंसान आर्थिक तंगी से जूझता हुआ नज़र आया,ऐसे में देवास के कुछ स्कूलो का ये तुगलकी फरमान समझ से परे है ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here