पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ की सीएम शिवराज से मुलाकात, इन मुद्दों पर हुई चर्चा

वहीं उन्होंने सीएम शिवराज से अपील की है कि किसानों के संघर्ष में उनका साथ देना चाहिए।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (madhya pradesh) में आज पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ (kamalnath) सीएम शिवराज (CM Shivraj) से मिलने उनके निवास पर पहुंचे। इस दौरान उन्होंने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (shivraj singh chauhan) से किसान आंदोलन (farmer protest), कृषि कानूनों सहित प्रदेश के विकास एवं अन्य मुद्दों पर चर्चा की।

दरअसल शुक्रवार को मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और पीसीसी चीफ कमलनाथ मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से मुलाकात करने उनके निवास पर पहुंचे थे। करीब 20 मिनट चली इस चर्चा में विभन्न मुद्दों पर चर्चा हुई। इस दौरान उन्होंने देश में चल रहे किसान आंदोलन सहित कृषि कानूनों पर सीएम शिवराज से चर्चा की। चर्चा के दौरान पीसीसी चीफ कमलनाथ ने कहा कि तीनों कृषि कानून किसानों को बर्बाद कर देने वाले हैं। इसके अलावा लीज नवीनीकरण के 2 तरह के नियमों के चलते आ रही परेशानी के बारे में मुख्यमंत्री से चर्चा की

Read More: सनसनीखेज वारदात: वनकर्मी की गोली मारकर हत्या, जांच में जुटी पुलिस

इसलिए राजधानी से परे हटकर हर किसी को किसानी हित में निर्णय लेना चाहिए और इस कानून का विरोध करना चाहिए। कमलनाथ ने कहा कि हमारा देश कृषि प्रधान देश है जबकि यह तीनों काले कानून किसान की खेती और किसान दोनों के लिए भारी नुकसानदायक है। कमलनाथ ने कहा कि किसान भाई 2 माह से अधिक समय से इन कानूनों के विरोध में आंदोलन कर रहे हैं। वहीं उन्होंने सीएम शिवराज से अपील की है कि किसानों के संघर्ष में उनका साथ देना चाहिए।

इसके अलावा प्रदेश के विकास एवं जनहित के कई मुद्दे पर भी कमलनाथ ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से चर्चा की। वहीं यह मुलाकात सियासी मायने में भी बड़ी मानी जा रही है। बजट से पहले पूर्व सीएम कमलनाथ की सीएम शिवराज की मुलाकात को अहम माना जा रहा है। बजट सत्र के पहले दिन मध्य प्रदेश विधानसभा अध्यक्ष का चुनाव होगा।

ऐसे में इस मुलाकात को राजनीतिक नजरिया से देखा जा रहा है। इसी दौरान विकास और जनहित से जुड़े मुद्दों पर चर्चा करते हुए पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने सीएम शिवराज को कई आवश्यक सुझाव भी दिए। इसके साथ-साथ उन्होंने प्रदेश के कई मुद्दे पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से अपील की है कि उन्हें जल्द से जल्द सुलझाया जाना चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here