कोरोना संकटकाल के बीच पूर्व CMHO की अनूठी पहल, वेक्सीन परीक्षण के लिये सौंपी अपनी बॉडी

बड़वानी।

एक तरफ़ प्रदेश में तेज़ी से कोरोना के मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है…वही दूसरी तरफ़ इस संकट काल में सेकडों लोग किसीने किसी तरह मदद के लिए सामने आ रहे हैं। अब एमपी(MP) के एक अधिकारी ने अपने शरीर को थेरेपी के लिये दान देने की पहल की है। इसके लिये बकायदा उन्होंने पीएम और सीएम को पत्र लिखा है।

दरअसल मामला बड़वानी जिले का है। जहाँ एक रिटायर(retire) मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने जंग जितने की मिसाल पेश करते हुए प्रधानमंत्री मोदी(primeminister modi) को पत्र लिखा है। अधिकारी ने पीएम मोदी(PM Modi) को पत्र लिख ये घोषणा की है कि अगर कोरोना के टीकाकरण(Vaccination) के लिए इंसानी शरीर की आवश्यकता हो तो वो बिना किसी शर्त अपना शरीर देने को तैयार हैं।

शनिवार को रिटायर मुख्य चिकित्सा अधिकारी अब्दुल रशीद पटेल ने प्रधानमंत्री मोदी को पत्र लिखकर ये कहा है कि अगर कोरोना टीकाकरण के परिक्षण के लिए किसी इंसान की जरूरत हो तो वो बिना किसी शर्त के इस परिक्षण के लिए तैयार हैं। मुख्य चिकित्सा अधिकारी पटेल ने ये भी कहा कि उनका ये निर्णय देशहित एवं जनहित में लिया गया निर्णय है। बता दें कि पटेल खुद स्वास्थ्य विभाग में बड़े पद पर रहे हैं और टीकाकरण के रिस्क को भी भली-भांति जानते हैं बावजूद उसके इन्होने राष्ट्रहित में ये फैसला लिया है।