पूर्व राज्यपाल और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता का निधन, सीएम ने जताया शोक

पीजीआई में इलाज के दौरान उन्होंने अपनी अंतिम सांस ली। उनके निधन की जानकारी मिलते ही राजनीतिक जगत में मायूसी छा गई है।

नगरीय निकाय चुनाव

रोहतक, डेस्क रिपोर्ट। रविवार की रात राजनीति जगत के लिए एक बड़ी दुखद खबर सामने आई है। राज्य की पहली महिला सांसद और दिग्गज कांग्रेस नेत्री चंद्रावती का निधन हो गया। वह 92 साल की थी। दरअसल चंद्रावती लंबे समय से बीमार चल रही थी। जिसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था। जहां इलाज के दौरान उन्होंने अपनी अंतिम सांस ली।

बता दें कि पुडुचेरी के पूर्व राज्यपाल और हरियाणा की पहली विधायक, पहली महिला सांसद चंद्रावती का रविवार की रात निधन हो गया। वह काफी लंबे समय से वह बीमार थी। उनका इलाज चल रहा था। रोहतक पीजीआई में इलाज के दौरान उन्होंने अपनी अंतिम सांस ली। उनके निधन की जानकारी मिलते ही राजनीतिक जगत में मायूसी छा गई है। बता दे  कि चंद्रावती हरियाणा की पहली महिला विधायक, पहली महिला अधिवक्ता और हरियाणा विधानसभा में पहली महिला विधायक दल की नेता भी रही।

गौरतलब हो कि चंद्रावती जनता पार्टी की भी नेता रह चुकी है। 1977 में जनता पार्टी की तरफ से हरियाणा की वह पहली महिला सांसद बनी थी। हालांकि बाद में उन्होंने कांग्रेस का हाथ थाम लिया था और 1990 में पांडिचेरी के उपराज्यपाल के रूप में भी कार्य किया था। इससे पहले ,1972 से 1974 तक राज्य मंत्री वही 1982 से 1985 तक हरियाणा विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष भी चुनी गई।

उनके निधन की खबर से पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा सहित अन्य पार्टी के लोगों में शोक की लहर दौड़ पड़ी है। पूर्व मुख्यमंत्री ने ट्वीट करते हुए कहा है कि हरियाणा विधान सभा की पहली महिला विधायक, पूर्व सांसद, पूर्व उपराज्यपाल चंद्रावती जी के निधन की खबर उनके लिए कष्टदायक है। वहीं उन्होंने कांग्रेस नेत्री चंद्रावती जी के प्रति गहरी शोक संवेदना व्यक्त किए और श्रद्धांजलि दी है।

इधर मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने भी पांडिचेरी के पूर्व राज्यपाल चंद्रावती के निधन पर गहरा दुख और शोक व्यक्त किया है और पीड़ित परिवार के प्रति संवेदना जताई है।