GWALIOR- पुलिसकर्मी के साथ ठगी, 12 लाख का झांसा देकर मकान देने से मुकरा आरोपी

13 अगस्त 2020 को अनुबंध कर 12 लाख रुपये भारत ने गंभीर को दिए। शेष राशि रजिस्ट्री के समय देना तय हुआ था लेकिन अनुबंध करने के बाद 12  लाख रुपये लेकर गंभीर सिंह रजिस्ट्री करने से मुकर गया

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। ठग और जालसाज (Fraudster) कितने शातिर और बेख़ौफ़ हो गए हैं कि पुलिस (Police) के साथ भी ठगी करने से नहीं चूक रहे।  ताजा मामला ग्वालियर जिले के बहोड़ापुर क्षेत्र का है। थाने में फरियादी पुलिस के सिपाही ने शिकायत दर्ज कराई है कि उसे आरोपी ने एक मकान बेचने का वादा किया था उसके लिए 12 लाख रुपये बयाने के तौर पर लिखित अनुबंध कर दिए, लेकिन अब वो ना मकान दे रहा है और ना ही पैसे वापस कर रहा है।

पुलिस के मुताबिक भारत सिंह राजपूत  पुलिस में सिपाही (Sipahi) है वो इलेक्ट्रिशियन (Electrician) के पद पर कार्यरत है। वो उसके भाई आरक्षक राजेंद्र के साथ पुलिस लाइन में सरकारी क्वार्टर में रहता है। भारत कुछ दिनों से बहोड़ापुर क्षेत्र में ही अपने लिए घर तलाश रहा था।  उन्होंने ये बात अपने परिचित गंभीर सिंह राजपूत को बताई।  गंभीर ने कहा कि विनय नगर (Vinay Nagar) सेक्टर नंबर-2 में उसका एक बड़ा मकान है वो उसे बेचना है।  परिजनों ने जब घर देखा तो पसंद आ गया। परिजनों के मकान पसंद आने के बाद गंभीर और भारत के बीच मकान के लिए 1 करोड़ रुपये में सौदा हुआ। जिसके बयाने के तौर पर 13 अगस्त 2020 को अनुबंध कर 12 लाख रुपये भारत ने गंभीर को दिए। शेष राशि रजिस्ट्री के समय देना तय हुआ था लेकिन अनुबंध करने के बाद 12  लाख रुपये लेकर गंभीर सिंह रजिस्ट्री करने से मुकर गया। बहोड़ापुर थाना पुलिस ने भारत सिह की शिकायत पर आरोपी गंभीर सिंह के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज कर उसकी तलश शुरू कर दी  है।