Rape Case में फंसाने वाले गैंग का खुलासा,डॉक्टर सहित 6 लोगों पर FIR

छह लोगों के गैंग द्वारा एक युवती को ब्लैकमेल कर ऑटोमोबाइल कारोबारी पर झूठा रेप का मामला (rape case) दर्ज कराने के लिए धमकी देने का मामला सामने आया है। जिसमें युवती ने साहस दिखाते हुए पूरे मामले की शिकायत पुलिस से की है।

ग्वालियर, डेस्क रिपोर्ट। शहर में ऑटोमोबाइल कारोबारी को फंसाने की साजिश रचने का मामले सामने आया है। जिसमें छह लोगों के गैंग द्वारा एक युवती को ब्लैकमेल (Blackmail) किया गया और युवती से कहा गया कि वो उक्त कारोबारियों के खिलाफ दुष्कर्म (rape case) का झूठा मामला पुलिस थाने में दर्ज कराए, नहीं तो हम तुम्हारा अश्लील फोटो सोशल मीडिया पर वायरल (Photo viral on social media) कर देंगे। इस पूरे घटनाक्रम की साजिश करने के मामले में तीन डॉक्टरों, टीआई, एक महिला और एक व्यापारी की गैंग के सिंडिकेट का खुलासा हुआ है।

कारोबारी को फंसाने युवती को दी गई धमकी

रेप के संबंध में कारोबारी को फंसाने के लिए सिंडिकेट द्वारा युवती को धमकी दी गई थी। जिसके बाद भी युवती इनकी धमकियों से नहीं डरी और युवती सीधे गुना थाने (Guna police station) पहुंची। जहां युवती ने बिना डरे इन पुलिस और डॉक्टरों की गैंग के खिलाफ FIR दर्ज कराने की बात कही। जिसके बाद गुना पुलिस ने इस मामले को ग्वालियर भेज दिया है। वहीं पुलिस ने विश्वविद्यालय थाने में आरोपी टीआई सुनील शर्मा, तीन डॉक्टर्स, एक व्यापारी और एक महिला के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। बता दें कि ये पूरा मामला 6 दिसंबर की है, जिसका खुलास आज हुआ है।

युवती से कहा दर्ज कराओ झूठा रेप का मामला

दरअसल, गुना जिले के नयापुरा में निवासी युवती ने आवेदन देकर शिकायत की थी, जिसमें युवती ने बताया था कि 4 दिसंबर को उसे एक महिला ने फोन किया था। जो उसे फोन पर ही धमकी देने लगी कि ‘वो एक ऑटो मोबाइल कारोबारी पर झूठा रेप का मामला पुलिस थाने में दर्ज कराए।’ महिला ने धमकी में कहा कि ‘अगर तुमने ऐसा नहीं किया तो मैं तुम्हारी अश्लील फोटो वायरल कर तुम्हें बदनाम कर दूंगी।’

टीआई सुनील शर्मा ने भी दी धमकी

डरी सहमी युवती महिला के बुलाने पर 6 दिसंबर को सिटी सेंटर फ्लैट पर जा पहुंची। जहां पर टीआई सुनील शर्मा, डॉ. बीके सूरी, डॉ. गौरव भटनागर, डॉ. गौरव गुप्ता और व्यापारी गुरुदयाल कुकरेजा पहले से ही मौजूद थे। युवती ने बताया कि वहां पहुंचने के बाद टीआई सुनील शर्मा ने भी उसे धमकी दी। धमकी में टीआई ने कहा कि ‘तू ऑटो मोबाइल कारोबारी के खिलाफ रेप का झूठा मामला थाने में जाकर दर्ज करा दे और इसके लिए पहले डॉ. गुप्ता से शारीरिक संबंध बना ले। जिससे की जांच के दौरान मेडिकल रिपोर्ट में भी रेप का मामला ही आएगा।’

अश्लील फोटो-वीडियो वायरल करने की दी धमकी

वहीं युवती ने अपने बयान में आगे बताया कि जब उसने ऐसा कार्य करने से मना कर दिया तो टीआई के द्वारा कहा गया कि अगर उसने ऐसा नहीं किया तो वह मोबाइल फोन पर उसका अश्लील फोटो और वीडिया बनाकर वायरल कर उसे बदनाम कर देगा।

आरोपियों के खिलाफ कई धाराओं में मामला दर्ज

युवती ने साहस दिखाते हुए पूरे मामले की शिकायत करने पहले गुना कोतवाली पहुंची। लेकिन वहां पुलिस ने मामला दर्ज करने के बाद केस डायरी विश्वविद्यालय पुलिस जांच के लिए भेज दी। मामला धमकी देने का होने का कारण विश्वविद्यालय थाना ने धारा 506, 509, 34 IPC के तहत और 67, 67(ए) और 66(ई) IT एक्ट के तहत आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया।

आरोपी महिला ने पहले कराया था रेप का मामला दर्ज 

युवती के बयान के मुताबिक इस पूरे मामले में एक महिला आरोपी भी शामिल थी। जिस महिला ने शहर के एक बड़े कारोबारी के खिलाफ कुछ समय पहले ही रेप का मामला दर्ज कराया था। जो काफी चर्चा में आया था। इससे अंदाजा लगाया जा रहा है कि इन आरोपियों की गैंग ने पहले भी ऐसी घटनाओं को अंजाम दिया है। फिलहाल पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।