मध्यप्रदेश में नहीं थम रहे Rape के मामले, सागर में 14 साल की नाबालिग हुई हवसी भेडियों की शिकार

सागर में 14 साल की नाबालिग बच्ची (Minor) के साथ 70 साल के बुजुर्ग समेत तीन लोगों ने गैंगरेप (Gang Rape) की वारदात को अंजाम दिया है। पुलिस ने मार्ग कायम कर आरोपियों को गिरफ्तार (Gang Rape Accused Arrested) कर लिया है।

सागर,डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश में बच्चियों के साथ गैंगरेप (Gang Rape)की वारदात थमने का नाम नहीं ले रही है। एक भी दिन ऐसा नहीं जाता है जब प्रदेश में एक भी गैंगरेप या रेप के मामले सामने ना आते हो। एक बार फिर प्रदेश के सागर में 14 साल की नाबालिग बच्ची (Minor) के साथ 70 साल के बुजुर्ग समेत तीन लोगों ने गैंगरेप (Gang Rape) की वारदात को अंजाम दिया है। पुलिस ने मार्ग कायम कर आरोपियों को गिरफ्तार (Gang Rape Accused Arrested) कर लिया है।

दुष्कर्म के आरोपियों (Rape Accussed) ने पहले तो बच्ची को अगवा किया और उसके बाद उसके साथ रेप किया और फिर उसे छोड़ दिया। आधी रात को बच्ची सड़क पर संदिग्ध हालत (Suspicious condition) में फिर रही थी। इस दौरान कुत्ते भी बच्ची के पीछे पड़ गए थे। सागर विश्वविद्यालय के कर्मचारी द्वारा लड़की को संदिग्ध हालत में पाया गया, जिसके बाद कर्मचारी ने तुरंत बच्ची को कुत्तों से बचाया और पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कर उन्हे गिरफ्तार कर लिया है।

बच्ची को संदिग्ध हालत में पाने वाले विश्वविद्यालय के कर्मचारी सागर शहर के विवेकानंद वार्ड के रहने वाले हैं जिनका नाम समर्थ दीक्षित है। समर्थ दीक्षित ने बताया कि कुत्तों के भौकने की आवाज आ रही थी और बच्ची की बचाओ बचाओ कहने की भी उनको आवाज सुनाई दी। जिसके बाद तुरंत मैंने बाहर जाकर देखा तो एक बच्ची के पीछे कुत्ते (Streets Dog) पड़े थे। जिसके बाद तुरंत मैंने कुत्तों को भगाया।

ये भी पढ़े- इंदौर में छात्रा के साथ रेप, 3 आरोपी गिरफ्तार

कुत्ते के भागने के बाद बच्ची से पूछताछ करने पर पता चला कि एक बुजुर्ग ने उसके साथ रेप (Rape) की वारदात को अंजाम दिया है। साथ ही वह उसे भोपाल ले जाने के बारे में भी बोल रहे थे। बच्ची की आपबीती सुनने के बाद समर्थ तुरंत उसे पुलिस के पास लेकर पहुंचे। बच्ची के बयान क आधार पर पुलिस उसे लेकर तुरंत उसके घर लेकर पहुंची, जहां यह बात सामने आई कि बच्ची आरोपी को पहले से ही जानती थी।

पूरे मामले को लेकर थाना प्रभारी ने बताया कि रामस्वरूप नामदेव जो कि 70 साल का है, गगन सोनी और सुल्तान घोषी को गिरफ्तार कर लिया गया है। नाबालिग बच्ची करीब 10:30 बजे अपने घर के बाहर बैठी थी। इसी दौरान गगन सोनी और सुल्तान घोषी उसे रामस्वरूप के घर लेकर गए। जहां तीनों ने एक-एक करके लड़की के साथ रेप की वारदात को अंजाम दिया। थाना प्रभारी ने बताया कि बच्ची के मां-बाप मजदूरी का काम करते हैं।