गंगा-जमुनी तहजीब: मानवता का अनूठा रंग, टीआई ने ऐसे करवाई रोजा इफ्तारी

इंदौर। आकाश धोलपुरे

यूं तो रमजान(ramzan) के महीने में कोरोना(corona) संकट काल और लॉकडाउन(lockdown) के चलते रोजा इफ्तारी के लिए शहरभर में जगह जगह आयोजन नही हो रहे है क्योंकि सोशल डिस्टेसिंग(social distancing) का पालन करना जरूरी है और साथ ही कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकना भी उतना ही आवश्यक है। लिहाजा प्रशासन के निर्देशों का पालन कर रोजेदार घर पर ही इफ्तारी कर रहे है। इस बीच शहर के आजाद नगर से ऐसी तस्वीरें सामने आई ही जिसने इफ्तारी को कोरोना के दौर में एक नया रंग और रूप दे दिया है।

दरअसल कोरोना संकट के चलते शनिवार को शहर में गंगा जमुनी तहजीब का नजारा मूसाखेड़ी चौराहा पर देखने को मिला। जहां थाना आजाद नगर के प्रधान आरक्षक ताज मोहम्मद रोजेदार होकर भी मुस्तैदी से अपनी ड्यूटी कर रहे थे। जिसके चलते वह अपने घर नही जा पा रहे थे। इस बात की जानकारी जैसे ही थाना प्रभारी मनीष डाबर को लगी तो वे तुरंत उप निरीक्षक प्रियंका अलावा के साथ उस चौराहे पर जा पहुंचे जहां ताज मोहम्मद ड्यूटी पर तैनात थे। आजाद नगर थाना प्रभारी ने तुरंत रोजा इफतार की व्यवस्था कर मुसाखेड़ी चौराहे पर ही प्रधान आरक्षक ताज मोहम्मद के साथ बैठ कर उनका रोजा खुलवाया। ताज मोहम्मद ने बताया गया कि आज नमाज में इबादत के दौरान उन्होंने खुदा से दुआ की है कि वैश्विक महामारी कोरोना वायरस से शहर सहित समूचा मुल्क आजाद हो। थाना प्रभारी के इस दरियादिली कदम की शहर भर में चर्चा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here